राज्यपाल ने स्पीकर से पूंछा- किस नियम के तहत किए मुझसे किए गए हैं सवाल

0
9

भोपाल, मध्यप्रदेश में जहां हाईवोल्टेज सियासी ड्रामा चरम पर है वहीं पिछले कुछ दिनों से राज्यपाल लालजी टंडन और मुख्यमंत्री कमलनाथ के बीच चिट्टी की अदला-बदली चल रही है। इसी कड़ी में स्पीकर नर्मदा प्रसाद प्रजापति की चिट्ठी के बाद राज्यपाल लालजी टंडन ने पत्र लिखकर तंज कसे हैं।

राज्यपाल लालजी टंडन ने विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति को जवाबी चिट्ठी लिखकर खूब तंज कसा है। टंडन ने इशारों में ही प्रजापति से पूछ डाला कि उन्होंने खुद अनुपस्थित विधायकों का पता लगाने के लिए क्या किया? राज्यपाल ने अपने पत्र में यह भी कहा कि बीते 8-10 के घटनाक्रम से विधानसभा अध्यक्ष को जो पीड़ा हो रही होगी, उसका भी उन्हें अंदाजा है।

राज्यपाल ने लिखा है, “लगता है गलती से आपने चिट्ठी मुझे भेज दी। आपने अपने पत्र के अंतिम पैराग्राफ में विधायकों की सुरक्षा की मांग की है। प्रदेश के सभी नागरिकों की सुरक्षा का दायित्व कार्यपालिका का है और आप उससे ही सुरक्षा चाहते होंगे किंतु त्रुटिवश यह पत्र मुझे प्रेषित हुआ प्रतीत होता है। आपके पत्र के दूसरे पैराग्राफ में मुझसे कुछ प्रश्नों के उत्तर की अपेक्षा की गई है। उक्त अपेक्षा निश्चित ही किसी नियमावली के अंतर्गत होगी और आपने उसका अवलोकन किया होगा”।

राज्यपाल ने स्पीकर से यह भी पूछा कि आखिर उन्होंने किस नियम के तहत उनसे सवाल किए गए हैं? उन्होंने विधायकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के आग्रह पर कहा कि यह जिम्मेदारी कार्यपालिका की है। टंडन ने लिखा, ‘प्रदेश के सभी नागरिकों की सुरक्षा का दायित्व कार्यपालिका का है और आप उससे ही सुरक्षा चाहते होंगे।’ उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि शायद इस मांग की चिट्ठी गलती से उनके पास भेज दी गई है।

विधानसभाध्यक्ष ने राज्यपाल से लापता विधायकों की वापसी के लिए ठोस कदम उठाने का किया था आग्रह
मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने मंगलवार को राज्यपाल लालजी टंडन को पत्र लिखकर प्रदेश के कथित तौर पर ‘‘लापता’’ विधायकों के प्रति चिंता व्यक्त करते हुए उनकी वापसी के लिए ठोस कदम उठाने का आग्रह किया। इन विधायकों ने अपने त्यागपत्र अध्यक्ष को भेज दिए हैं। प्रजापति ने सदन के लापता सदस्यों की वापसी के विषय में राज्यपाल को पत्र में लिखा है, ‘‘मेरा आपसे विनम्र अनुरोध है कि आप प्रदेश के कार्यकारी प्रमुख एवं अभिभावक होने के नाते उक्त सभी लापता विधायकों के परिवारजनों एवं आत्मीयजनों की उपरोक्त शंकाओं के निराकरण एवं समाधान हेतु उनकी वापसी सुनिश्चत कराने की दिशा में ठोस कदम उठाकर मेरी और उन सदस्यों के परिजनों की चिंताओं का समाधान करने का कष्ट करें।’’