20 प्रतिशत किराया बढाने की मांग, नहीं तो 15 के बाद थम जाएंगे बसों के पहिए

0
61

भोपाल। लॉकडाउन के दौरान ट्रांसपोर्ट टैक्स माफी प्रस्ताव मानने के बाद अब मध्य प्रदेश प्राइवेट मोटर मालिक एसोसिएशन ने सरकार को यात्री बसों का किराया बढ़ाने का अल्टीमेटम जारी कर दिया है। मध्य प्रदेश प्राइवेट मोटर मालिक एसोसिएशन की तरफ से अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने परिवहन विभाग एवं सीएम कार्यालय को पत्र भेजकर साफ किया है कि सरकार ने ट्रांसपोर्ट टैक्स माफी प्रस्ताव मंजूर करने के साथ किराया समिति द्वारा प्रस्तावित किराया वृद्धि पर जल्द फैसला लेने का एलान किया था, लेकिन किराया वृद्धि के मामले में फैसला नहीं लिया जा सका है।
प्राइवेट मोटर मालिक एसोसिएशन का कहना है कि भोपाल सहित मध्यप्रदेश में 30 हजार से ज्यादा यात्री बसों का संचालन हो रहा है। लॉकडाउन के बाद यात्रियों की संख्या में भारी कमी आई है, जिसके चलते प्राइवेट मोटर मालिक डीजल, ड्राइवर, कंडक्टर का वेतन और इंश्योरेंस के लिए अतिरिक्त राशि जमा नहीं कर पा रहे हैं। प्राइवेट मोटर मालिक एसोसिएशन ने स्पष्ट किया है कि ट्रांसपोर्ट टैक्स माफी के साथ सरकार को किराया वृद्धि करना और इंश्योरेंस की तारीख में इजाफा करना भी जरूरी है। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो प्राइवेट मोटर व्यवसाय करोड़ों रुपए के घाटे में पहुंच जाएगा और छोटे मोटर मालिक बसों का संचालन करने में असमर्थ हो जाएंगे। प्राइवेट मोटर मालिक ने सरकार को कार्रवाई के लिए 15 अक्टूबर तक का समय दिया है, जिसके बाद प्रदेश में एक बार फिर यात्री बसों का संचालन बंद करने का ऐलान किया गया है।

सबसे ज्यादा यात्री इंदौर के लिए
लॉकडाउन खुलने के बाद आइएसबीटी, नादरा और हलालपुरा से चलने वाली बसों में यात्रियों की सबसे ज्यादा संख्या इंदौर के लिए आ रही है। आइएसबीटी से वर्मा एवं हंस ट्रेवल्स इसका फायदा उठाकर मुनाफाखोरी कर रहे हैं, जबकि बीसीएलएल द्वारा संचालित चार्टर्ड वोल्वो बसों का संचालन 500 रुपए की टिकट पर किया जा रहा है। प्राइवेट मोटर मालिक ने सरकार को कार्रवाई के लिए 15 अक्टूबर तक का समय दिया है, जिसके बाद प्रदेश में एक बार फिर यात्री बसों का संचालन बंद करने का ऐलान किया गया है।