कांग्रेस वालों ने ही बोला था कि सरकार गिरा दो: कैलाश विजयवर्गीय

0
15

Rahman qureshi

आगर-मालवा, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बड़ा बयान दिया है। आगर-मालवा में कार्यकर्ताओं को उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि सिंधिया जी भोला भाला आदमी हैं। इन लोगों ने बोला था कि किसानों का कर्ज माफ कर देंगे लेकिन जब एक मुख्यमंत्री बन कर बैठ गया, दूसरा दिग्विजय सिंह ट्रांसफर उद्योग खोल कर बैठ गए और रोज नोट गिनते रहे। सिंधिया जी बोलते रहें कि किसानों का कर्ज माफ करो, मैं सब जगह बोल कर आया हूं। कहते-कहते थक गए लेकिन इन लोगों उनकी नहीं सुनी।

उन्होंने कहा कि जब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कर्ज माफ करो, नहीं तो मैं सड़क पर आ जाऊंगा। भाई सिंधिया जी सड़क पर आ गए, सिधिंया जी तो बीजेपी एक्स्प्रेस में बैठ गए और कमलनाथ सड़क पर आ गए और अपने साथ पूरी टीम लेकर आ गए, इसलिए 28 सीटों पर चुनाव हो रहा है।

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि हमने सोचा भी था कि कमलनाथ की सरकार गिरा दे, मेरे पास पहले ही कांग्रेस के 4, 5 लोग आ गए थे। उन लोगों ने कहा था कि आप चाहो तो सरकार गिरा दें। लेकिन मैंने केंद्रीय नेतृत्व से पूछा तो कहा कि अभी चलने दो, देखते हैं कितना दिन चलता है। देखते है कितने दिन चलते है, चलने दो देखते है, कैसे चलाते हैं। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि आप लोगों ने देख लिया कि ये सरकार कितने दिन चली।उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में डेमोक्रेसी नहीं है। वहां भारत का संविधान नहीं चलता है। वहां ममता जी का संविधान चलता है। राजनीतिकरण, अपराधीकरण और नौकरशाही का विलय हो गया है और इसलिए वहां की हालत बहुत चिंतनीय है। डेमोक्रेसी की स्थापना के लिए हमारे लगभग 115 कार्यकर्ताओं की अभी तक हत्या हुई है।