भाजपा वार रूम से दे रही निर्देश, कांग्रेस नामांकन के बाद करेगी तैयारी

0
1

बिना वाररूम ग्वालियर-चंबल पर कांग्रेस का फोकस

नामांकन के बाद वाररूम बनाएगी कांग्रेस

भोपाल। प्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस का फोकस ग्वालियर-चंबल अंचल है। क्योंकि जिन 28 सीटों पर चुनाव होना है उनमें से इसी अंचल की सबसे ज्यादा 16 सीटें हैं। इस अंचल में चुनाव पर फोकस करने के लिए भाजपा ने अपना वाररूम तैयार कर लिया है जबकि कांग्रेस अभी तक अपना वार रूम तैयार नहीं कर पाई है इसकी वजह यहां कांग्रेस में फाड़ भी बताई जा रही है। हालांकि कांग्रेस का कहना है कि उम्मीदवारों के नामांकन भरने के बाद वाररूम बनाया जाएगा।

विधानसभा उपचुनाव होने में एक महीने से भी कम समय शेष है, लेकिन कांग्रेस अब तक अपना वार रूम तैयार नहीं कर पाई है। ग्वालियर में शिंदे की छावनी स्थित कांग्रेस कार्यालय में ही अभी बैठकें और कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। कांग्रेस के ग्वालियर-चंबल संभाग के मीडिया प्रभारी ने एक मल्टी में कार्यालय बना लिया है, लेकिन वहां सिर्फ बड़े मुद्दें पर चर्चा होती है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष का कहना है कि प्रत्याशियों के नामांकन फॉर्म जमा करने के बाद वार रूम बनाया जाएगा। जबकि भारतीय जनता पार्टी ने निजी होटल में वाररूम बना लिया है जो उपमुख्यालय के रूप में काम कर रहा है और यहां से ही ग्वालियर-चंबल की 16 सीटों के दिशा-निर्देश जारी हो रहे हैं। वाररूम का उद्घाटन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया था।

अलग-अलग हो रहे आयोजन
कांग्रेस में वाररूम नहीं बनने से अलग-अलग जगह आयोजन हो रहे हैं। ग्वालियर-चंबल के मीडिया प्रभारी केके मिश्रा किराए पर लिए फ्लैट से और जिलाध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा कांग्रेस कार्यालय में बैठकर दिशा-निर्देश जारी कर रहे हैं। कांग्रेस में दो फाड़ चल रहे हैं। केके मिश्रा पत्रकार वार्ता निजी होटल में रखते हैं तो जिलाध्यक्ष कांग्रेस कार्यालय में रखते हैं। प्रत्याशियों ने अपने-अपने कार्यालय बना लिए हैं और वो वहां बैठक आयोजित कर रहे हैं।