समाजसेवा हो या स्वच्छता मिशन, इंदौर ने हमेशा सर्वोत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया: मुख्यमंत्री

0
6

इंदौर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज अभय प्रशाल में कोरोना महामारी के दौरान इंदौर की समाजसेवी संस्थाओं द्वारा की गई समाजसेवा के लिये संस्थाओं के प्रतिनिधियों को प्रशंसा-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि चाहे समाजसेवा हो या स्वच्छता मिशन, इंदौर ने हमेशा सर्वोत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया है। मैं बरसों से इंदौर को जानता हूं, इंदौर जैसी समाजसेवी संस्थाएं शायद ही दुनिया के किसी शहर में हों। इंदौर की समाजसेवी संस्थाओं ने लॉकडाउन के दौरान भूखे-प्यासे श्रमिकों को भोजन, पेयजल, नाश्ता, चाय, शरबत और यहाँ तक कि जूते-चप्पल तक मुहैया कराये। समाजसेवियों ने अपने हाथों से गरीबों के पैरों में जूते-चप्पल पहनाकर एक अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है, जो कि काबिलेतारीफ है। इंदौर ने समाजसेवा के क्षेत्र में ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ और ‘परहित सरिस धर्म नहि भाई’ की सूक्ति को चरितार्थ किया है।

उन्होंने कहा कि यह समय संकट का समय है और इस समय सबके सहयोग से हमें कोरोना से लड़ना है। हमारी जीत अवश्य होगी। कोरोना की लड़ाई में डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ और पुलिस वाले सबसे आगे है। कई लोग तो शहीद हो गये। प्रदेश सहित इंदौर में कोरोना परीक्षण की क्षमता कई गुना बढ़ी है। आने वाले समय में कोरोना की जाँच का दायरा और परीक्षण की क्षमता दोगुनी की जायेगी। शासकीय संस्थाओं के साथ-साथ प्रदेश में निजी अस्पतालों का भी कोरोना से लड़ाई में सहयोग लिया जा रहा है। भोपाल के चिरायु अस्पताल और इंदौर के अरविन्दो व इंडेक्स अस्पताल इसके जीवन्त उदाहरण हैं।

इस अवसर पर स्वागत-भाषण देते हुए क्षेत्रीय सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि इस समय पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी की चपेट में है। इंदौर में सेम्पलिंग और जाँच की क्षमता कई गुना बढ़ी है। कोविड-19 से मुकाबला करने के लिये होम आइसोलेशन की परम्परा इंदौर से शुरू हुई है। इस महायुद्ध में शासकीय डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ और निजी चिकित्सक डटकर मुकाबला कर रहे हैं। हम इस महायुद्ध में अवश्य विजयी होंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने इस अवसर पर अभय प्रशाल में सेवा भारती, आर्ट ऑफ लिविंग, क्रेडाई समूह, भारत विकास परिषद,भारतीय रेडक्रास सोसायटी, पुष्प ब्राण्ड, गोल्ड क्वाइन, मेडिकल एसोसिएशन, नमो-नमो संस्था, वैश्य सम्मेलन, हिन्द रक्षक संगठन, खालसा बाग गुरुद्वारा, संस्था समरथ, पुरुषार्थ वसुधैव कुटुम्बकम्, ट्रक डीलर्स एसोसिएशन, सांई मंदिर समिति नंदा नगर, संस्था प्रयास, संस्था रूद्राक्ष, इंदौर रामायण मण्डल आदि संस्थाओं के प्रतिनिधियों को सम्मानित किया।

इस अवसर पर जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, संस्कृति मंत्री सुउषा ठाकुर, विधायक महेन्द्र हार्डिया, श्रीमती मालिनी गौड़, रमेश मेंदोला, आकाश विजयवर्गीय, कलेक्टर मनीष सिंह, आयुक्त नगर निगम सुप्रतिभा पाल, गौरव रणदीवे, मधु वर्मा, मनोज पटेल, सुदर्शन गुप्ता आदि मौजूद थे।