16वें बच्चे को जन्म देने के बाद महिला की मौत, CMO ने दिए जांच के आदेश

0
3

दमोह.
मध्य प्रदेश  के दमोह जिले के बटियागढ़ थानांतर्गत ग्राम पाडाझिर से एक सनसनीखेज खबर सामने आई है. यहां एक 45 वर्षीय महिला ने अपने 16वें बच्चे को जन्म दिया, लेकिन उसके कुछ ही घंटों बाद ही महिला एवं उसके नवजात बेटे ने दम तोड़ दिया. जबकि आशा कार्यकर्ता कल्लो बाई विश्वकर्मा ने रविवार को बताया कि पाड़ाझिर निवासी सुखरानी अहिरवार ने शनिवार को अपने 16वें बच्चे को जन्म दिया. प्रसव के दौरान गंभीर हालत के चलते परिजन उसे और उसके नवजात बच्चे को तत्काल हटा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गये, लेकिन रास्ते में ही मां-बेटा दोनों की मौत हो गई. यही नहीं, इस मामले में दमोह जिले की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संगीता त्रिवेदी  ने जांच के आदेश दिए हैं.

15 बच्‍चों में से इतने हैं जीवित
इसके अलावा आशा कार्यकर्ता कल्लो बाई विश्वकर्मा ने कहा कि महिला सुखरानी अहिरवार सोलहवीं बार मां बनी थी. महिला की पहले की 15 संतानों में से मात्र 4 लड़के और 4 लड़कियां जीवित हैं, जबकि 7 बच्चों की पहले ही मौत हो चुकी है. आपको बता दें कि पाड़ाझिर गांव दमोह जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर दूर है.

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संगीता त्रिवेदी ने कही ये बात
इसी बीच, दमोह जिले की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संगीता त्रिवेदी ने कहा कि शासन की इतनी योजनाओं के बाद भी अभी तक इस महिला का परिवार नियोजन ना होना जांच का विषय है. इसकी जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी पाया जाएगा, उस पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी.