स्नातकोत्तर एवं पी.एच.डी. पाठ्यक्रमों में प्रवेश आज से

0
3

रायपुर
इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित कृषि, उद्यानिकी एवं कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालयों में स्नाकोत्तर एवं पी.एच.डी. पाठ्यक्रमों में दाखिले की प्रक्रिया संशोधित कार्यक्रम के अनुसार अब 22 सितंबर से प्रारंभ की जाएगी। कोविड-19 संक्रमण को ध्यान में रखते हुए इन पाठ्यक्रमों में बिना प्रवेश परीक्षा के पिछली उपाधि के प्राप्तांकों के आधार पर सीधे दाखिला दिया जाएगा। इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के इच्छुक तथा निर्धारित अर्हताप्राप्त विद्यार्थी इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय की वेबसाइट ूूूण्पहाअउपेण्बहण्दपबण्पद पर 22 सितंबर से 18 अक्टूबर के मध्य आॅनलाइन आवेदन कर सकते हैं। प्रवेश के संबंध में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा निर्धारित आरक्षण नियम लागू होंगे। उपरोक्त सभी पाठ्यक्रमों में एक-एक सीट जम्मू-कश्मीर के विद्यार्थियों के लिए आरक्षित की गई है।  

उल्लेखनीय है कि कोविड-19 संक्रमण के कारण इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित महाविद्यालयों में स्नातकोत्तर एवं पी.एच.डी. पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु इस वर्ष संयुक्त पात्रता परीक्षा का आयोजन नहीं किया जा रहा है। इन पाठ्यक्रमों में पिछली उपाधि के प्राप्तांकों (मेरिट) के आधार पर सीधे प्रवेश दिया जाएगा। स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में सस्य विज्ञान (एग्रोनॉमी), कृषि अर्थशास्त्र, कृषि विस्तार (एग्रीकल्चर एक्सटेंशन), कृषि मौसम विज्ञान, कृषि सूक्ष्म जीव विज्ञान, कृषि सांख्यिकी, कीट विज्ञान, आनुवाशिकी एवं पादप प्रजनन, प्लान्ट मॉलिक्यूलर बायोलॉजी एण्ड बायोटेक्नोलॉजी, पौध रोग विज्ञान, पादप कायिकी (प्लान्ट फिजियोलॉजी), मृदा विज्ञान एवं कृषि रसायन, वानिकी, पुष्प विज्ञान एवं भू-दृश्यावली, फल विज्ञान, सब्जी विज्ञान विषयों में एम.एस.सी. एवं एग्री बिजनेस मैनेजमेन्ट में एम.बी.ए. तथा एग्रीकल्चरल प्रोसेसिंग एण्ड फूड इंजिनियरिंग, फॉर्म मशीनरी एण्ड पावर इंजिनियरिंग और स्वाइल एण्ड वाटर इंजिनियरिंग विषयों में एम.टेक. उपाधि पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाएगा। इन द्विवर्षीय पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु निर्धारित अर्हता संबंधित स्नातक उपाधि (बी.एस.सी. कृषि, बी.एस.सी. उद्यानिकी तथा बी.टेक. कृषि अभियांत्रिकी, 10$2$4 सिस्टम) में न्यूनतम 6.00 ओ.जी.पी.ए. निर्धारित की गई है। इसी प्रकार उपरोक्त विषयों में पी.एच.डी. पाठ्यक्रम में प्रवेश हेतु स्नातकोत्तर उपाधि (एम.एस.सी. कृषि, एम.एस.सी. उद्यानिकी, एम.एस.सी. वानिकी, एम.बी.ए. कृषि व्यवसाय प्रबंध और एम.टेक. कृषि अभियांत्रिकी) में न्यूनतम 3.00/4.00 अथवा 6.50/10.00 ओ.जी.पी.ए. अथवा 65 प्रतिशत अंक होना अनिवार्य है। इन पाठ्यक्रमों के प्रवेश हेतु छत्तीसगढ़ के मूलनिवासी ही आवेदन कर सकते हैं। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय से स्नातक अथवा स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों के लिए मूलनिवास प्रमाण पत्र की बाध्यता नहीं होगी। पी.एच.डी. पाठ्यक्रम में सेवाकालीन विद्यार्थियों के लिए मूलनिवास प्रमाण पत्र की बाध्यता नहीं होगी। शैक्षणिक सत्र 2020-21 से पी.एच.डी. पाठ्यक्रम में सेल्फ फायनेन्स सीट्स श्रेणी के अंतर्गत भी प्रवेश दिया जाएगा। इस श्रेणी के तहत कृषि महाविद्यालय, रायपुर में कृषि, उद्यानिकी एवं कृषि अभियांत्रिक संकायों में मेरिट के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा और इस श्रेणी में प्रवेश हेतु आरक्षण लागू नहीं होगा।