व्यापमं जैसा फर्जीवाड़ा करने पर BU निरस्त करेगा विद्यार्थियों की परीक्षाएं

0
3

भोपाल
मप्र के कालेज और विश्वविद्यालय में अंतिम वर्ष और सेमेस्टर में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को ओपन बुक सिस्टम से परीक्षा में शामिल होना है। इसके चलते बरकतउल्ला विश्वविद्यालय ने अपनी गाइडलाइन जारी कर दी है। विद्यार्थियों को परीक्षा में शामिल होने के लिए नियमों का कढाई से पालन करना होगा। परीक्षा में किसी भी प्रकार का फर्जीवाड़ा होने पर उसकी परीक्षा निरस्त कर दी जाएगी।
बीयू ने ओपन बुक सिस्टम अंतिम सेमेस्टर और वर्ष की परीक्षा लेने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

विद्यार्थी परीक्षा में किसी भी प्रकार का फर्जीवाड़ा करता है, तो उसकी सम्पूर्ण परीक्षा निरस्त कर दी जाएगी। यहां तक उसे आगामी तीन साल तक परीक्षाओं से बाहर तक किया जा सकता है। दूसरों से अपनी परीक्षाएं दिलाने पर व्यापमं का फर्जीवाड़ा जगजाहिर है। इसमें विद्यार्थियों को जेल तक जाना पड़ा है। जारी निर्देश में बताया गया है विद्यार्थियों की परीक्षा के दौरान अपनी उत्तरपुस्तिकाओं में उत्तर स्वयं को लिखना होंगे। विद्यार्थी अपनी उत्तरपुस्तिकाएं भाई, बहन, माता पिता के अलावा अपने दोस्तों और अन्य रिश्तों के अलावा किसी और से लिखवाने का फर्जीवाड़ा करता है, तो उनकी परीक्षाएं निरस्त करा दी जाएंगी।

ऐसे होगी फर्जीवाड़े की जांच
बीयू अधिकारियों का कहना है कि विद्यार्थियों की लिखावट के नमूने लेने की जरुरत नहीं होगी। क्योंकि विद्यार्थियों की पूर्व की परीक्षाओं की समस्त लिखित उत्तरपुस्तिकाएं विवि में मौजूद हैं, जिससे उनका मिलान किया जाएगा। उनकी लिखावट पूर्व की कापियों से मेल नहीं खाएगा, तो उनके खिलाफ फर्जीवाड़ा करने की कार्रवाई की जाएगी।

व्यापमं में खुला था फर्जीवाड़ा
व्यापमं का फर्जीवाड़ा सभी को याद होगा। प्री मेडिकल टेस्ट (पीएमटी) की परीक्षाओं में जमकर फर्जीवाड़ा हुआ था। इसमें विद्यार्थियों ने अपने स्थान पर दूसरे लोगों को बैठकार परीक्षाएं कराई थीं। लेकिन उनके गोले लगाने के पैटर्न और लिखावट के नमूने से व्यापमं ने उनका फर्जीवाड़ा खोलकर रख दिया था। इसके चलते विद्यार्थियों की परीक्षाएं निरस्त होने साथ उनके मेडिकल कालेजों में प्रवेश निरस्त कर दिए गए। यहां तक विद्यार्थियों के साथ फर्जीवाड़ा में शामिल होने वाले लोगों को जेल तक जाना पड़ा है।

ऐसी बनाना होगी उत्तरपुस्तिका
बीयू ने उत्तरपुस्तिका तैयार करने की पूरी प्रक्रिया अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दी है। प्रथम पृष्ठ का प्रारूप विवि के वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। उक्त प्रारूप को डाउनलोड कर उसमें उल्लेखित सभी कॉलम की पूर्ति करने के बाद उत्तरपुस्तिका के प्रथम पृष्ठ के रूप में शामिल होगा। उत्तरपुस्तिका के पेजों की संख्या 16 होगी। परीक्षार्थी को  विवि द्वारा जारी समय-सारिणी के अनुसार प्रश्नपत्र विवि की वेबसाइट में कक्षावार, विषयवार उपलब्ध कराए जाएंगे। परीक्षार्थी उत्तर लिखने के लिए केवल काले न नीले बॉल पेन का प्रयोग करेंगे। परीक्षार्थी परीक्षा देने के बाद विवि द्वारा निधारित समय अवधि में उत्तरपुस्तिका निकट के संग्रहण केंद्रों में जमा करना होगा। निर्धारित तिथि के बाद उत्तरपुस्तिका स्वीकार नहीं की जाएगी। बता दें कि स्नातक अंतिम व स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं सितंबर के दूसरे सप्ताह में होना है। यह परीक्षा ओपन बुक पद्धति से ली जाएगी।

बाहरी विद्यार्थी ऐसे अग्रणी कालेज भेजेंगे कापियां
जिले के बाहर से परीक्षा में शामिल हो रहे परीक्षार्थी अपने कॉलेज के जिले के अग्रणी कॉलेज में डाक द्वारा निश्चित समय-सीमा में उत्तरपुस्तिका भेजेंगे। विवि द्वारा उत्तरपुस्तिका जमा करने के लिए तिथि अलग से जारी की जाएगी। अग्रणी महाविद्यालय का डाक पता संबंधित महाविद्यालय, विवि की वेबसाइट पर उपलब्ध रहेंगे। स्वाध्यायी परीक्षार्थियों को असाइनमेंट का प्रश्नपत्र संबंधित महाविद्यालय के पोर्टल, परीक्षार्थी के ई-मेल आईडी उपलब्ध कराया जाएगा। परीक्षार्थियों को प्रवेश पत्र  एसआईएस ( स्टूडेंट इंफॉरमेशन सिस्टम) के माध्यम से प्रवेश पत्र डाउनलोड करने में कठिनाई हो रही हो तो महाविद्यालय से प्राप्त करें या विवि के परीक्षा कंट्रोल रूम से संपर्क करें।