लॉकडाउन के दौरान अलीगढ़-मुजफ्फरनगर में पुलिस पर पथराव, 3 पुलिसकर्मी घायल

0
29

 
अलीगढ़/मुजफ्फरनगर 

देशभर में पुलिस लोगों को कोरोना से बचाने के लिए दिन रात एक कर रही है, लेकिन कई जगहों पर लोग न सिर्फ कानून तोड़ रहे हैं, बल्कि लॉकडाउन का पालन भी नहीं कर रहे. इसके साथ ही पुलिस पर भी हमला कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ और मुजफ्फरनगर में पुलिस टीम पर हमला किया गया है. इस दौरान सब इंस्पेक्टर और 2 कांस्टेबल घायल हुए हैं.

अलीगढ़ में गुरुवार को एक मस्जिद में सामूहिक नमाज की सूचना पर पुलिस पहुंची. पुलिसकर्मी जब लोगों को समझाने में लगे तो वहां मौजूद लोगों ने मारपीट करते हुए पथराव कर दिया. पुलिस वालों ने वहां से भागकर अपनी जान बचाई. इसकी सूचना पर कई थानों की फोर्स के साथ भारी मात्रा में पुलिस मौके पर पहुंची और तीन लोगों को हिरासत में ले लिया.
 
पुलिस ने दी कार्रवाई की चेतावनी

क्षेत्राधिकारी पंकज श्रीवास्तव ने मार्च करते हुए लोगों को समझाया कि पुलिस प्रशासन लगातार जनता की समस्याओं को ध्यान में रखकर उनकी मदद कर रही है, लेकिन अगर इस तरह की मारपीट की घटनाएं पब्लिक करेगी तो उसे सहा नहीं जाएगा. उस पर सख्ती से कार्रवाई होगी.
 
भीड़ ने पुलिस टीम पर किया हमला

वहीं, मुजफ्फरनगर में लॉकडाउन के दौरान उस समय हंगामा खड़ा हो गया, जब इकठ्ठा लोगों की भीड़ को पुलिस समझाने गई. इस भीड़ ने एक सब इंस्पेक्टर और 2 कांस्टेबल को लाठी-डंडों से पीटने के बाद घायल पुलिस कर्मियों पर पथराव भी किया. बताया जा रहा है कि पूर्व प्रधान नाहर सिंह के घर के बाहर इकट्ठा भीड़ ने पुलिस पर जानलेवा हमला किया है.

सब इंस्पेक्टर और कांस्टेबल की हालत गंभीर

पुलिस ने घायल सब इंस्पेक्टर और दोनों कांस्टेबल को हॉस्पिटल में भर्ती कराया है, जहां से गंभीर हालत के चलते सब इंस्पेक्टर और एक सिपाही को मेरठ रेफर कर दिया. वहीं, एसएसपी अभिषेक यादव पहले हॉस्पिटल बाद में घटनास्थल पर पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे. पुलिस ने पूर्व प्रधान सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.