रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भी घूम रहे दो लोगों के खिलाफ एफआई आर

0
2

रायपुर
लापरवाही की हद हो गई,कुछ नासमझ लोग खुद मरेंगे दूसरों को भी मारेंगे। इनके खिलाफ तो एफआईआर कम हैं। जब कोरोना संक्रमण होने की जानकारी मिल चुकी है फिर भी सड़कों पर बेपरवाह घूम रहे हैं बजाय हॉस्पिटल जाने के अब इनके लिए क्या लिखा व पढ़ा जाए?पुलिस तलाश रही है,एफआईआर हो चुका है। मामला डीडी नगर इलाके का है।

रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन को गलत जानकारी देकर अस्पताल जाने से बच रहे हैं। इन दोनों लोगों पर आरोप है कि इन्होंने प्रशासन को गुमराह किया और छुपते रहे। दूसरों को भी संक्रमित करने का जोखिम पैदा किया। इन संक्रमितों की तलाश जारी है। नगर निगम के जोन पांच के कर्मचारी संजय कुमार बघेल ने लापरवाही करने वालों के खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है। इनमें आशीष शर्मा और ओंकार देवांगन नाम के लोगों के खिलाफ कार्रवाई हुई है। दोनों को नगर निगम की तरफ से कहा गया कि निरंतर संक्रमितों से संपर्क कर उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती होने कहा गया लेकिन इन्होंने अपना पता छिपाकर मोबाइल फोन पर झूठी जानकारी देकर गुमराह किया। आशीष तो मनमानी करते हुए दुर्ग तक चला गया था। ओंकार देवांगन को भी जब टीम लेने पहुंची तो वह घर पर नहीं मिला। अब इनकी तलाश और परिवार के लोगों से संपर्क करके की जा रही है। दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। अब बड़ा सवाल यह कि रिपोर्ट पाजिटिव आने के बाद ये दोनों कितने लोगों से मिल चुके हैं। इतना संक्रमण बढ़ चुका है फिर भी लोग मजाक में ले रहे हैं।