युवराज सिंह के खिलाफ एफआईआर ,की थी जातिसूचक टिप्पणी

0
25

नई दिल्ली
भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) को टीम इंडिया के युवा लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) के टिकटॉक वीडियो पर कॉमेंट करना भारी पड़ता दिख रहा है। युवराज ने चहल के वीडियो पर कॉमेंट करते हुए एक जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल किया था, जिसके बाद से सोशल मीडिया पर उनके प्रति काफी नाराजगी देखी जा रही थी। अब हरियाणा के हिसार जिले के एक दलित अधिकार कार्यकर्ता और वकील रजत कल्सन (Rajat Kalsan) ने इस पूर्व ऑलराउंडर के खिलाफ पुलिस में शिकायत (FIR against Yuvraj Singh) दर्ज कराई है।

दरअसल इस सप्ताह सोशल मीडिया पर युवराज सिंह का कुछ दिन पुराना एक वीडियो ट्रेंड करने लगा। इसके बाद माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट टि्वटर पर #युवराज_सिंह_माफी_मांगो ट्रेंड करने लगा। इस वीडियो में युवी टीम इंडिया के सीमित ओवरों के उपकप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के साथ इंस्टाग्राम पर लाइव चैट कर रहे थे। तभी उन्होंने चहल का जिक्र छिड़ने पर एक जातिसूचक शब्द इस्तेमाल कर दिया।

युजवेंद्र चहल लॉकडाउन की शुरुआत में अपने परिवार के साथ सोशलमीडिया वेबसाइट टिकटॉक पर डांस और मौज-मस्ती वाले वीडियो खूब बना रहे थे। युवराज ने उनके इन्हीं वीडियो पर जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल कर कॉमेंट कर दिया।

रजत काल्सन ने इसी तर्ज पर युवराज के खिलाफ यह एफआईआर दर्ज कराई है। रजत ने युवराज के साथ-साथ रोहित शर्मा को भी आरोपी बनाया है क्योंकि युवराज के इस शब्द के प्रयोग के दौरान वह भी हंस रहे थे। रजत ने युवराज सिंह की गिरफ्तारी की मांग की है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है अगर युवराज को इसमें आरोपी पाया जाता है, तो मुश्किल में पड़ सकते हैं।