बस्तर की युवाशक्ति को मिला यूनिसेफ का साथ

0
4

रायपुर
युवोदय कार्यक्रम के माध्यम से बस्तर के विकास में योगदान देने को आतुर युवा शक्ति को यूनिसेफ का साथ मिला। बस्तर में स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, संस्कृति, पर्यटन, खेलकूद, आजीविका, कृषि और वनोपज, डिजीटल सामग्री व सूचना तकनीक, जल और स्वच्छता, पंचायती राज संस्थाएं और बाल संरक्षण व लिंग समानता के लिए कार्य करने वाले स्वयंसेवी युवाओं के सहयोग के लिए आज बस्तर जिला प्रशासन और यूनिसेफ के बीच करार किया गया।

बस्तर के विकास में सहयोग के इच्छुक युवाओं को युवोदय कार्यक्रम के माध्यम से मंच उपलब्ध कराने वाले बस्तर कलेक्टर और यूनिसेफ के छत्तीसगढ़ प्रमुख श्री जॉब जकारिया ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर यह करार किया। इसके साथ ही युवोदय के स्वयंसेवकों द्वारा निर्मित एक रैप थीम गीत भी जारी किया गया। उल्लेखनीय है कि युवोदय का उद्देश्य जिले के प्रत्येक गांव में आजीविका, पर्यावरण, संस्कृति, शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण और कोरोना की रोकथाम में युवा शक्ति की सहायता प्राप्त करना है। कार्यक्रम के तहत स्वयंसेवकों को सामुदायिक सेवा के लिए कौशल विकास और प्रमाण पत्र के लिए प्रशिक्षण मिलेगा। कार्यक्रम में प्राप्त अनुभव व्यवसाय और उद्योग में उनकी रोजगार क्षमता को बेहतर बनाने में योगदान देगा।

बस्तर कलेक्टर ने कहा, हमारे युवा वालिंटियर्स को उम्र के आधार पर परिभाषित नहीं किया गया है, उनके दिलों में जुनून है। ये ऐसे लोग हैं जो निस्वार्थ भाव से बस्तर के उज्ज्वल और गौरवशाली भविष्य के लिए अपना योगदान देना चाहते हैं। युवोदय के साथ बस्तर सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए जाना जाएगा। यूनिसेफ की शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य क्षेत्रों में तकनीकी विशेषज्ञता युवोदय वालंटियर्स को गांव में अंतिम व्यक्ति तक पहुंचने में मदद करेगी।

यूनिसेफ के छत्तीसगढ़़ प्रमुख श्री जकारिया ने कहा, युवोदय एक अभिनव कार्यक्रम है जो देश के लिए एक मिसाल के तौर पर उभर सकता है, जिसका देश के अन्य राज्यों द्वारा अनुकरण किया जा सकता है। युवोदय की सफलता वालिंटियर्स के हाथों में है। उनकी प्रतिबद्धता इस पहल को विशिष्ट बनाती है। यूनिसेफ के संचार विशेषज्ञ श्री अभिषेक सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम को नई ऊंचाईयों तक पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक ग्राम के विभिन्न क्षेत्रों में रुचि रखने वाले युवाओं को इस कार्यक्रम से जोड?े से एक बड़ी शक्ति का निर्माण होगा। सहायक कलेक्टर सुश्री रेना जमील द्वारा स्वागत उद्बोधन दिया गया। इस अवसर पर युवोदय कार्यक्रम से जुड़े वालिंटियर्स उपस्थित थे।