बम-हथियारों से लैस आतंकियों की क्या थी प्लानिंग, कौन-कौन शहर थे टारगेट, NIA ने अलकायदा मॉड्यूल का किया भंडाफोड़

0
3

 नई दिल्ली 
देश के अलग-अलग प्रमुख शहरों में आतंकी हमले की फिराक में रहे आतंकियों के नापाक मंसूबों पर एनआईए ने पानी फेर दिया है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने केरल और पश्चिम बंगाल में पाकिस्तान स्पॉन्सर्ड आतंकी संगठन अलकायदा के मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है और ताबड़तोड़ छापेमारी कर नौ आतंकियों को गिरफ्तार किया है। एएनआई के मुताबिक, एनआईए ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद और केरल के एर्नाकुलम से ये गिरफ्तारियां की हैं।

सूत्रों की मानें तो ये सभी आतंकी दिल्ली, मुंबई और कोच्चि में आतंकी हमले की प्लानिंग कर रहे थे। इसके अलावा, इनका टारगेट कोच्चि नवल बेस और शिपयार्ड था। इनके पास से हथियार और बम बनाने के सामान भारी मात्रा में बरामद किए गए हैं। 

दरअसल, एनआईए को देश में विभिन्न जगहों पर अलकायदा के आतंकियों के एक अंतर-राज्य मॉड्यूल के बारे में खुफिया इनपुट मिले थे। जांच एजेंसी को खुफिया जानकारी मिली थी कि अलकायदा के ये आतंकवादी निर्दोष लोगों को मारने और आतंक पैदा करने के उद्देश्य से महत्वपूर्ण स्थानों पर आतंकी हमले करने की योजना बना रहे हैं।

इन्हीं इनपुट्स के आधार पर एनआईए ने 11 सितंबर 2020 को मामला दर्ज किया और जांच शुरू कर दी। एनआईए ने शनिवार तड़के एर्नाकुलम और मुर्शिदाबाद के कई स्थानों पर एक साथ ताबड़तोड़ छापेमारी की, जिसमें नौ आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया। इनमें से छह पश्चिम बंगाल से और तीन केरल से गिरफ्तारी हुई।

इन आतंकियों के पास से डिजिटल उपकरण, दस्तावेज, जिहादी साहित्य, धारदार हथियार, देसी हथियार, घर में विस्फोटक उपकरण बनाने से जुड़े कागजात समेत भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है। एनआईए द्वारा गिरफ्तार किए गए इन आतंकियों के नाम मुर्शीद हसन, याकूल बिस्वास, मोर्शफ हुसैन, नजमुस साकिब, अबू सूफियान, मैनुल मंडल,  लियू यीन अहमद, अल मामून कमाल और अतितुर रहमान है। 

 शुरुआती जांच के मुताबिक, इन लोगों को सोशल मीडिया पर पाकिस्तान स्थित अलकायदा आतंकवादियों द्वारा कट्टरपंथी बनाया गया था। साथ ही राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र सहित कई स्थानों पर हमले करने के लिए प्रेरित किया गया था। इस उद्देश्य के लिए मॉड्यूल सक्रिय रूप से धन जुटाने में लगा था और हथियार और गोलाबारूद खरीदने के लिए गैंग के कुछ सदस्य दिल्ली जाने की योजना बना रहे थे।

एनआईए की इस कार्रवाई ने संभावित तौर पर देश के कुछ इलाकों में होनी आतंकी घटनाओं को रोक दिया है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने कहा कि वह इन आतंकियों की पुलिस कस्टडी लेने और आगे की जांच करने के लिए केरल और पश्चिम बंगाल में कोर्ट के समक्ष पेश करेगी।