पुलिस पार्टी पर हमला मुश्किल से बची टीआई और कॉन्स्टेबल की जान

0
3

छिंदवाड़ा
 समोसे को लेकर हुए विवाद में मध्य प्रदेश में छिंदवाड़ा के तहसील सौसर के मोहगांव थाना प्रभारी पर ग्रामीणों ने को जानलेवा हमला कर दिया। समोसे का ठेला लगाने वाले दो लोगों के बीच मारपीट के मामले को सुलझाने जामलापानी पहुंची पुलिस पार्टी पर ग्रामीणों ने यह सोचकर  हमला कर दिया कि पुलिस अवैध शराब पकड़ने आई है। गंभीर रूप से घायल टीआई और कॉन्स्टेबल को अस्पताल में भर्ती किया गया है जबकि अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मारपीट और शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने को लेकर मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई है।

जानकारी के अनुसार शनिवार शाम को सौसर निवासी सागर सेंद्रे, पिता गोपी किशन किसी कार्य से गांव जामलापानी गया था जहां पर उसका विवाद सोनू उमरे और उसका पिता रामेश्वर से हो गया। दोनों समोसा का ठेला लगाते है। सागर का समोसे की कीमत को लेकर विवाद हुआ, जिसमें सोनू कमरे और उसके पिता ने उसकी पिटाई कर दी। सूचना मिलते ही थाना मौहगांव टीआई गोपाल घासले अपने साथी प्रधान आरक्षक हरि शंकर बटके और आरक्षक नाथूराम कंगाली को लेकर गांव जामलापानी पहुचे।

जैसे ही थाना प्रभारी आरोपी के घर के नजदीक पहुंचे, एक शराबी ने शोर मचाया दिया कि मारो पुलिस वाले दारू पकड़ने आ गए हैं। उसकी बात सुनते ही करीब 15-20 लोग इकट्ठा हो गए जिन्होंने लाठी और पत्थर से पुलिस पर हमला कर दिया। हमले में टीआई गंभीर रूप से घायल हुए और कॉन्स्टेबल को भी चोटें आई हैं। टीआई को नागपुर रेफर किया गया है।