दिल्ली में अब रोज37 हजार 200 लोगों का RT-PCR टेस्ट करेगी ICMR

0
1

नई दिल्ली
 देश में फिर से रफ्तार पर पकड़ रहे कोरोना वायरस (Corona Virus) पर लगाम लगाने के लिए सरकार अलर्ट मोड है. संक्रमितों का पता लगाने के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने ने आरटी-पीसीआर टेस्टिंग (RT-PCR Testing) की संख्या बढ़ा दी है. इस बात की जानकारी गृहमंत्रालय ने शनिवार को दी है. खास बात है कि गृहमंत्री अमित शाह के आदेश के बाद ICMR ने कोरोना टेस्टिंग की संख्या में इजाफा किया है.

ताजा जानकारी के अनुसार, पहले 27 हजार टेस्ट प्रतिदिन कर रहा आईसीएमआर अब हर रोज 37 हजार 200 लोगों की जांच करेगा. गृहमंत्री अमित शाह ने बीते 15 नवंबर को राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस को नियंत्रण में लाने के लिए कई घोषणाएं की थीं. इन्ही सुझावों में शाह ने आरटी-पीसीआर टेस्ट की क्षमता को बढ़ाया जाना और दिल्ली में मोबाइल टेस्टिंग वैन की हालत को सुधारा जाना शामिल था.

इसके अलावा शाह ने यह भी बताया था कि क्षमता को बढ़ाए जाने के लिए सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स के डॉक्टर्स और पैरामेडिकल सदस्यों को दिल्ला लाया गया है. कोविड 19 संक्रमण के गंभीर मामलों में प्लाज्मा डोनेशन को लेकर नियम बनाए जाएंगे. इस मीटिंग का आयोजन दिल्ली में त्योहार के मौसम के दौरान कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर रणनीति तैयार करने के लिए किया गया था. सरकार का कहना है कि देश में अब तक 13 करोड़ से ज्यादा कोरोना टेस्टिंग हो चुकी है. खास बात है कि एक करोड़ जांचें केवल 10 दिन के भीतर हुई हैं.

केंद्र के अलावा राज्य स्तर पर भी कई सरकारें कोरोना वायरस से निपटने के लिए सतर्क हैं. मध्य प्रदेश, गुजरात के कई जिलों और शहरों में नाइट कर्फ्यू की घोषणा की है. इसके अलावा महाराष्ट्र में बीएमसी ने मुंबई के स्कूलों को 31 दिसंबर तक बंद रखने के आदेश दिए हैं. वहीं, गुजरात में सरकार ने 23 नवंबर को स्कूल खोलने के आदेशों को वापस ले लिया है.