जियो ने तीन महीने में जोड़े 1 करोड़ ग्राहक

0
2

नई दिल्ली
लॉकडाउन में वोडा-आइडिया और एयरटेल को भारी झटका लगा है। ट्राई द्वारा जारी नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक मार्च से मई माह के बीच में दोनों कंपनियों के हाथों से 2 करोड़ 68 लाख से अधिक ग्राहक फिसल गए हैं। उधर रिलायंस जियो लगातार अपनी स्थिती मजबूत कर रहा है। जब दिग्गज कंपनियां ग्राहक खो रही थी, जियो ने इन तीन महीनों में करीब 99 लाख 20 हजार ग्राहकों को अपने नेटवर्क से जोड़ लिया।

मात्र मई महीने में वोडा-आइडिया और एयरटेल से कुल मिला कर करीब 94 लाख से अधिक उपभोक्ता छिटक गए। रिलायंस जियो ने मई महीने में भी बाजी मार ली। उसके नेटवर्क पर 36 लाख 50 हजार नए ग्राहक जुड़ गए। जियो के अलावा सरकारी कंपनी बीएसएनएल भी लॉकडाउन से बेसर रही। मार्च से मई महीने के बीच उसने 2 लाख 76 हजार से अधिक ग्राहकों को अपने नेटवर्क से जोड़ा। मई महीना बीएसएनएल के लिए सबसे अचछा साबित हुआ। मई में 2 लाख से अधिक ग्राहक बीएसएनएल से जुड़े।

लॉकडाउन का सबसे तगड़ा झटका वोडा-आइडिया को लगा है। तीन माह के दौरान कंपनी के एक करोड 55 लाख 96 हजार से अधिक ग्राहकों ने सेवा छोड़ दी। समान अवधि में एयरटेल के 1 करोड़ 12 लाख 74 हजार से अधिक उपभोक्ता टूट गए।

दूरसंचार क्षेत्र की नियामक संस्था भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के आंकड़े बताते हैं कि लॉकडाउन दूरसंचार उद्योग पर भारी गुजरा है। कुल मिलाकर मार्च से मई के बीच 1 करोड़ 66 लाख से अधिक ग्राहक घटे हैं। इसका मतलब देश में मोबाइल सर्विस इस्तेमाल करने वालों की संख्या में कमी दर्ज की गई है। जहां इस वर्ष फरवरी के अंत में 116 करोड़ 5 लाख के करीब ग्राहक मोबाइल वायरलेस सर्विस का इस्तेमाल कर रहे थे वहीं मई अंत में इनकी संख्या घटकर 114 करोड़ 39 लाख के करीब रह गई।

प्रशासनिक दृष्टि से ट्राई ने देश को 22 सर्किल में बांटा हुआ है। मई माह में 22 में से 20 सर्किल्स में ग्राहकों की संख्या घट गई। बिहार और केरल सर्किल ही ऐसे रहे जहां संख्या बढ़ी है।

ट्राई के अनुसार मई अंत तक 39 करोड़ 27 लाख के करीब ग्राहक और 34.33% मार्किट शेयर के साथ जियो सबसे आगे बना हुआ है। एयरटेल के पास 31 करोड़ 78 लाख के करीब और वोडा-आइडिया के पास 30 करोड़ 99 लाख के करीब ग्राहक हैं। एयरटेल के पास 27.78% और वोडा-आइडिया के पास 27.09% मार्किट शेयर है। सरकारी कंपनियां बीएसएनएल और एमटीएनएल 10.79 फीसदी बाजार पर काबिज हैं।

मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43वीं आम बैठक में अगले तीन वर्षों में जियो के ग्राहक पचास करोड करने का लक्ष्य रखा था। उनकी नजर 30 करोड 2जी ग्राहक में से अधिक से अधिक अपने साथ जोड़ने की है। रिलायंस जियो का नेटवर्क पूरी तरह 4 जी पर काम करता है। जबकि एयरटेल और वोडा-आइडिया के ग्राहक बड़ी संख्या में अभी भी 2 जी नेटवर्क से जुड़े हैं।