जल जीवन हरियाली यात्रा में भागलपुर पहुंचे सीएम नीतीश बोले, प्रेम और भाईचारा से ही होगा समाज का विकास

0
62

 भागलपुर
जल जीवन हरियाली यात्रा में भागलपुर पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि प्रेम और भाईचारा से ही समाज का विकास हो सकता है। कुछ लोग झगड़ा लगाने का प्रयास कर रहे हैं। राय रखने को लोग स्वतंत्र हैं, लेकिन एक-दूसरे का सम्मान रखना चाहिए। तभी विकास का लाभ मिल सकता है। किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जाएगा। इससे पहले वे बांका के चांदन डैम गए, जहां उन्होंने डैम के जीर्णोद्धार काम का उद्घाटन किया।
 
शाहकुण्ड प्रखंड के भुलनी स्थित चाड़ा बड़गांव में गुरुवार को जल- जीवन- हरियाली जागरूकता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने शराबबंदी, बाल- विवाह, दहेज प्रथा, जल-जीवन-हरियाली, शिक्षा, मुख्यमंत्री सात निश्चय सहित अन्य योजनाओं की प्रगति पर प्रकाश डाला। 42 मिनट के संबोधन में उन्होंने कहा कि बिहार की योजनाओं का असर देश में दिखने लगा है। जीविका की तर्ज पर केन्द्र सरकार ने आजीविका शुरू की। हर घर बिजली और हर घर नल का जल योजना को भी केन्द्र ने लागू किया है। शराबबंदी लागू की गई तो कई लोगों का दिमाग गड़बड़ाने लगा। कहा गया कि गरीब महिलाओं का रोजगार चला गया। बिहार सरकार ने गरीब महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये।

नीचे जा रहे जलस्तर से निपटने की जरूरत 
सीएम ने कहा कि जलवायु परिवर्तन से वर्षापात में कमी आयी है। कभी बाढ़ तो कभी सूखा पड़ रहा है। जलस्तर नीचे जा रहा है, इससे निपटना होगा। जल संचय करने की जरूरत है। लोगों का जीवन जल और हरियाली पर निर्भर है। मौसम के अनुकूल खेती करने की जरूरत है। हर घर बिजली पहुंच गयी है, लेकिन सौर ऊर्जा ही असली ऊर्जा है। उसका प्रयोग बेहतर तरीके से करना होगा। सीएम ने कहा कि बेटियों को पहले माता-पिता पढ़ने के लिए नहीं भेजते थे। साइकिल और पोशाक योजना के चलते स्कूलों में अब लड़का और लड़कियों की संख्या बराबर हो गयी है। पंचायती संस्थानों में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण से मुखिया, पंचायत समिति, जिला परिषद व नगर निकाय क्षेत्रों में महिलाओं की संख्या पुरुषों से अधिक हो गयी है। नौकरी में 35 प्रतिशत आरक्षण का लाभ महिलाओं को मिल रहा है। पुलिस विभाग में देश में सबसे अधिक महिलाएं बिहार में है। 

लड़कियों के शिक्षित होने का असर आबादी पर दिख रहा 
एक करोड़ महिलायें जीविका से जुड़ी हैं। लड़कियों के शिक्षित होने का असर बिहार की आबादी पर दिख रहा है। बिहार का आबादी घनत्व सबसे अधिक है। प्रजनन दर में कमी लाने का प्रयास किया जा रहा है। बिहार में पत्नी अगर मैट्रिक पास है तो प्रजनन दर दो है। अगर इंटर पास है तो प्रजनन दर 1.6 है। अप्रैल से सभी पंचायतों में नौवीं की पढ़ाई शुरू हो जाएगी। सम्मेलन को भवन निर्माण सह जिले के प्रभारी मंत्री अशोक चौधरी, जल संसाधन मंत्री संजय झा, मुख्य सचिव दीपक कुमार, डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय, सांसद अजय कुमार मंडल, कहकशां परवीन, विधायक सुबोध राय, लक्ष्मीकांत मंडल, एमएलसी संजीव कुमार सिंह, जिप अध्यक्ष टुनटुन साह, मेयर सीमा साहा व डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने संबोधित किया। मुख्यमंत्री का स्वागत डीएम प्रणव कुमार और धन्यवाद ज्ञापन सदर एसडीओ आशीष नारायण ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here