केंद्र सरकार के निगमीकरण का विरोध, एकजुट हुए कर्मचारी यूनियन

0
4

जबलपुर
आयुध निर्माणियों के निगमीकरण को लेकर तैयार किए गए केंद्र के रक्षा मंत्रालय के प्लान का आयुध निर्माणियों में कार्यरत कर्मचारी संगठन एआइडीइएफ, आईएनडीडब्ल्यूएफ एवं बीपीएमएस पुरजोर विरोध कर रहे हैं। भारत-चीन सीमा पर बने तनाव के हालातों में देश की 41 आयुध निर्माणियों पर हड़ताल का खतरा मंडराने लगा है। कई स्तरों पर हुई बैठकों के बाद भी अभी तक सरकार और कर्मचारी संगठनों के बीच एक राय नहीं बन सकी। जिसके चलते आक्रोशित कर्मचारी संगठनों ने 12 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है।

हड़ताल को लेकर जबलपुर में स्थित आयुध निर्माणी खमरिया (ओएफके), गन कैरिज फैक्टरी (जीसीएफ), वाहन निर्माणी जबलपुर (वीएफजे), ग्रे आयरन फाउंडरी (जीआईएफ) सहित अन्य सुरक्षा संस्थानों के श्रमिक नेताओं ने गुप्त बैठक आयोजित की। जिसमें 12 अक्टूबर से प्रस्तावित हड़ताल को लेकर व्यापक रणनीति बनाई गई। आॅल इंडिया डिफेंस एप्लांइज फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एसएन पाठक ने बताया देश कि 41 आॅर्डिनेंस फैक्टरियों के प्रस्तावित निगमीकरण के खिलाफ आगामी 12 अक्टूबर से होने वाली अनिश्चितकालीन हड़ताल की तैयारियों के लिए देश भर की आॅर्डिनेंस फैक्टरियों सहित अन्य रक्षा संस्थानों की यूनियनों ने कमर कस ली है।

रक्षा विभाग की हर यूनियन प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से हड़ताल में शामिल है, या समर्थन कर रही है। जबलपुर स्थित आॅर्डिनेंस फैक्टरी जीसीएफ, ओएफके, वीएफजे, जीआईएफ की तीनों फेडरेशन की यूनियनों ने फैक्टरी के अंदर व्यापक जनसमर्थन जुटाया जा रहा है।