आरजेडी ने कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में 58+1सीटों का ऑफर दिया

0
4

पटना
बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में आरजेडी ने कांग्रेस के सामने सीट शेयरिंग का नया फॉर्म्यूला दिया है। आरजेडी ने कांग्रेस को 243 विधानसभा सीटों में से 58 सीटें ऑफर की है। इसके अलावा आरजेडी वाल्मीकिनगर लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव की सीट भी कांग्रेस को देने की बात कही है। आरजेडी किसी भी सूरत में कांग्रेस को महागठबंधन से अलग होने नहीं देना चाहती है। सीट के मसले पर कांग्रेस को मनाने के लिए आरजेडी हर संभव कोशिश कर रही है।

आरजेडी नेता शक्ति सिंह ने सोमवार को कहा कि हम नहीं चाहते हैं कि कांग्रेस महागठबंधन से अलग जाए। इसलिए फिलहाल विधानसभा की 58 सीटें उन्हें ऑफर किया गया है। इसके अलावा एक लोकसभा सीट भी कांग्रेस को देने की बात कही गई है। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस को खुश करने के लिए एक-दो सीटें और घटाया बढ़ाया जा सकता है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने कांग्रेस की केंद्रीय नेतृत्व से अपील की है कि पार्टी को बिहार में कम से कम 80 सीटों पर प्रत्याशी उतारने चाहिए। एक दिन पहले ही बिहार चुनाव के लिए कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे ने कहा था कि पार्टी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार है। अविनाश पांडे के इस बयान के बाद बिहार की राजनीति में कई तरह की चर्चाएं शुरू हो गई थी। नेता सदानंद सिंह ने कहा है कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव में आरजेडी की बात मान ली थी, लेकिन विधानसभा चुनाव में अपने हिसाब से सीटें चाहेंगे।

महागठबंधन में सीट शेयरिंग का फॉर्म्यूला तय!
विधानसभा चुनावों के लिए NDA ने अपना फॉर्मूला तैयार कर लिया है। सूत्रों की माने तो जेडीयू ने ज्यादा सीटों की मांग जरूर की है, लेकिन सीट बंटवारे का फॉर्म्यूला 2010 की तरह ही करने की बात भी कही गई है। बता दें कि 2010 में जेडीयू 141 और बीजेपी ने 102 सीटों पर चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में जेडीयू ने 115 तो बीजेपी ने 91 सीटों पर जीत हासिल कर लालू यादव की पार्टी आरजेडी को 22 सीट पर ही समेट दिया था। 28 अक्टूबर को होने वाले बिहार विधानसभा के पहले चरण के मतदान के लिए बिहार बीजेपी के उम्मीदवारों की घोषणा 3 अक्टूबर से पहले किए जाने की उम्मीद है।