अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच फिर तकरार

0
4

जयपुर
प्रदेश में 35 दिन चला सियासी संकट थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक बार फिर सचिन पायलट और अशोक गहलोत खेमे में रार होने के संकेत मिल रहे हैं। दरअसल मिली जानकारी के अनुसार सचिन पायलट के मीडिया मैनेजर से खिलाफ पुलिस की ओर से आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि पुलिस की ओर से इस संबंध में जयपुर विधायकपुरी थाने में दर्ज किए गए केस में पुलिस की ओर से कुछ महीने पहले ही हुए राजस्थान पॉलिटिकल क्राइसेस के दौरान जारी हुए ऑडियो वायरल मामले से जुड़ा है। बताया जा रहा है कि राज्य में सियासी घमासान के बीच विधायकों और मंत्रियों के फोन टैपिंग की वायरल मामले को पुलिस ने गंभीरता से लिया है।

अगस्त की घटना का अक्टूबर में केस दर्ज
मीडिया रिपोटर्स के अनुसार सियासी संकट के दौरान यह बात सामने आई थी कि पायलट खेमे की ओर से जैसलमेर के होटल में विधायकों के फोन टैप किए जा रहे हैं। सात अगस्त की इस घटना के बाद पुलिस ने इस मामले में सचिन पायलट के मीडिया मैनेजर लोकेन्द्र सिंह और शरत कुमार पर छह अक्तूबर को मामला दर्ज किया गया है। इस घटना के बाद एक बार फिर प्रदेश में खेमेबाजी को लेकर फिर राजनीतिक गलियारों में चर्चा शुरू हो गई है।

सचिन पायलट के घर में घुसे साइबर थाना एक्सपर्ट
मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में साइबर थाने के एसएचओ सुरेंद्र पंचोली इंवेस्टिगेट कर रहे हैं। यह जानकारी मिली है कि वो बिना सचिन पायलट की अनुमति के उनके घर पहुंचे और उन्होंने वहां पायलट के मीडिया मैनेजर लोकेंद्र सिंह का बयान दर्ज किए हैं। साथ ही लोकेंद्र सिंह पर आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। दूसरी ओर इस मामले में लोकेन्द्र सिंह का कहना है कि मुझे जानबूझकर टारगेट किया जा रहा है।