अम्बेडकर अस्पताल में विशेषज्ञ कर रहे प्रतिदिन वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए मरीजों की मॉनिटरिंग

0
2

रायपुर
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के द्वारा  अम्बेडकर अस्पताल के टेलीमेडिसिन हाल में स्थापित स्टेट  टेलीकंसल्टेशन हब के माध्यम से प्रदेश के विशेषीकृत कोविड एवं नॉन-कोविड अस्पतालों में कार्यरत चिकित्सा विशेषज्ञों को वर्चुअल मोड से प्रतिदिन भर्ती गंभीर मरीजों के संबंध में  चिकित्सकीय परामर्श दिया जा रहा है। राज्य के समस्त मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल इत्यादि में स्थापित डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल के डॉक्टर ई-प्लेटफॉर्म के जरिये जुड़कर मेकाहारा रायपुर के विशेषज्ञों से प्रतिदिन परामर्श प्राप्त कर रहे हैं।

चिकित्सा महाविद्यालय में टेलीकसंल्टेशन कमांड सेंटर के प्रभारी एवं क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ डॉ. ओ. पी. सुंदरानी के मुताबिक पहले सुदूरवर्ती अस्पतालों में क्रिटिकल केयर वाले गंभीर मरीजों को आईसीयू में शिफ्ट करने में दिक्कत आती थी। टेलीकंसल्टेशन सेवा के जरिये यह डॉक्टरों के लिये अब बहुत आसान हो गया है। कुछ दिनों पहले बिलासपुर के कोविड-19 पॉजीटिव मरीज को कोविड आईसीयू में वेंटीलेटर पर शिफ्ट करने के लिये टेलीकंसल्टेशन के जरिये उनका वेंटीलेटर चालू कराया गया। प्रत्येक दिन संध्या 03 से 05 के बीच चिकित्सा महाविद्यालय के डॉक्टर्स द्वारा राज्ये के डेडिकेटेड कोविड अस्पताल के मरीजों का वर्चुअल राउंउ लिये जाते है। अम्बेडकर अस्पताल में कोविड-19 नोडल आॅफिसर एवं रेस्पिरेटरी मेडिसीन विशेषज्ञ डॉ. आर. के. पंडा के अनुसार, यहां पर प्रत्येक मरीज के बीमारी के लक्षणों के आधार पर उनको नई दवाईयां चालू करने, बंद करने या कितने दिनों तक उनको दवाईयों को दी जानी है, इस पर विस्तृत चर्चा की जाती है। यदि कोई कोविड मरीज को पहले से ही शुगर, बी. पी. इत्यादि की समस्या है तो दवा की कितनी मात्रा दी जानी चाहिए, यह विशेषज्ञ सलाह भी प्रदान की जाती है।

कोरोना काल में सुदूरवर्ती क्षेत्र जैसे दक्षिण में बीजापुर, दन्तेवाड़ा, बस्तर, सुकमा वहीं उत्तर में कोरिया, सूरजपुर, बलरामपुर एवं जशपुर जैसे जिलों में स्थित अस्पताल के डॉक्टरों को क्लीनिकल मैनेजमेंट के लिये यह एक तरह का  परामर्श दात्री विशेषज्ञ केंद्र हैं जहां पर एनेस्थेसिया एवं क्रिटिकल केयर, कॉर्डियक, रेस्पिरेटरी मेडिसीन इत्यादि के विशेषज्ञ आॅनलाइन  परामर्श हेतु मौजूद रहते हैं।

हाल ही में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार की ओर से आयी तीन सदस्यीय विशेषज्ञों की टीम ने टेलीकंल्टेशन हब के माध्यम दूरस्थ क्षेत्रों के विशेषीकृत कोविड-19 अस्पताल के डॉक्टरों को ई-प्लेटफार्म के जरिये अम्बेडकर अस्पताल के विशेषज्ञों द्वारा दी जा रही परामर्श की सराहना की। केन्द्र से आये विशेषज्ञों की टीम में शामिल डॉ. गीता यादव (प्रोफेसर प्रिवेंटिव सोशल मेडिसीन, सफदरजंग अस्पताल) ने बालोद एव वाड्रफनगर के डॉक्टरों से एक-एक करके वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये  टेलीकंल्टेशन हब से उनको को हो रहे लाभ के बारे में पूछा, जिस पर डॉक्टरों ने कहा कि यह एक तरह से हम सबके लिये कोरोना काल में वरदान साबित हो रही है। इसके जरिये किसी भी समय मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेश्यलिटी सर्विस वाले डॉक्टरों से कनेक्ट होकर मरीज को वेंटीलेटर पर मैनेज करने में, जीवन रक्षक दवाईयों को शुरू करने में त्वरित सलाह ले सकते हैं।