योगी के फार्मूले से येदुरप्पा करेंगे दोषियों से नुकसान की वसूली

0
8

बेंगलुरु, कर्नाटक की बीएस येदियुरप्पा सरकार बेंगलुरु हिंसा मामले में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का फॉर्म्युला’ अपनाएगी। कर्नाटक सरकार ने कहा है कि वह बेंगलुरु हिंसा में शामिल दोषियों से संपत्तियों के नुकसान की भरपाई करेगी। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने ट्वीट कर कहा, ‘हमारी सरकार ने केजी हल्ली और डीजी हल्ली में हुई हिंसक घटनाओं में सार्वजनिक और निजी संपत्ति के नुकसान का आकलन करने और दोषियों से लागत वसूलने का फैसला किया है।

रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि मामले की विस्तृत जांच करने के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है। एसआईटी गुंडा एक्ट लागू करने पर विचार करेगी और जरूरत पड़ने पर यूएपीए ऐक्ट भी लगाया जाएगा। दोषियों को किसी भी हालत में नहीं बख्शा जाएगा। बता दें कि बेंगलुरु में पिछले दिनों हुई हिंसा के मामले में अब तक करीब 350 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हिंसाग्रस्त इलाकों में 18 अगस्त तक धारा 144 लागू है। हिंसा में तीन लोगों की मौत हुई थी और करीब 60 पुलिसकर्मी घायल हुए थे।

कर्नाटक के मंत्री सीटी रवि ने पहले ही बता दिए थे सरकार के इरादे
कर्नाटक के मंत्री सीटी रवि ने बीते दिनों कहा था कि बेंगलुरु में हिंसा भड़काने वालों से नुकसान की भरपाई ठीक उसी तरह की जाएगी जैसे हाल ही में यूपी सरकार ने की थी। मंत्री सीटी रवि ने कहा था कि दंगा सुनियोजित था और संपत्ति को नुकसान पहुंचाने में पेट्रोल बम और पत्थरों का इस्तेमाल किया गया था। 300 से अधिक वाहन जला दिए गए। उन्होंने कहा था कि हमारे पास संदिग्धों की जानकारी है लेकिन जांच के बाद ही पुष्टि हो सकती है। मंत्री ने कहा कि हम उत्तर प्रदेश की तरह दंगाइयों से संपत्ति की वसूली करेंगे।

हिंसा प्रभावित इलाकों में निषेधाज्ञा 21 अगस्त तक बढ़ाई
बेंगलुरु हिंसा होने पर पुलिस गोलीबारी में तीन लोगों के मारे जाने के बाद शहर के कुछ इलाकों में लागू निषेधाज्ञा 18 अगस्त से बढ़ाकर 21 अगस्त तक कर दी गई है। पुलिस के मुताबिक निषेधाज्ञा की अवधि बढ़ाए जाने का मकसद 11 अगस्त की रात हुई घटना में संलिप्त लोगों की ओर से साक्ष्य को नुकसान पहुंचने, गवाहों और पीड़ितों को धमकाये जाने को टालना है।