बिना छुटटी के कैसे मनाएंगे विश्व आदिवासी दिवस

0
88

सीहोर। प्रशासन ने अबतक विश्व आदिवासी दिवस पर शासकीय अवकाश घोषित नहीं किया है जिस से आदिवासी समाज के युवाओंं में आक्रोश व्याप्त है। जब की बैतूल, अलिराजपुर, बड़वानी, धार, मण्डला के कलेक्टरों ने छुटटी के आदेश जारी कर दिए है।
रविवार को अनुसुचित जाति जनजाति अधिकारी कर्मचारी संघ ने तहसील कार्यालय पहुंचकर तहसीलदार सुधीर कुमार कुशवाहा को कलेक्टर तरूण कुमार पिथोड़े और अनुविभागीय अधिकारी के नाम ज्ञापन दिया।

World Tribal Day will celebrate without a break

अजाक्स जिला अध्यक्ष कमल कीर ने बताया की प्रशासन के स्थानीय अवकाश की सूचना जारी नहीं करने के कारण आदिवासी संगठन विभिन्न कार्यक्रमों की रूप रेखा तैयार नहीं कर पा रहे है। अगर शासकीय अवकाश घोषित नहीं होता है तो आदिवासी समाज के शासकीय सेवक कार्यक्रमों में शामिल होने से वंचित रहेंगे। अजाक्स जिला उपाध्यक्ष हुकम सिंह मंडलोई, राष्ट्रीय अनुसुचित जाति जनजाति छात्र संघ जिलाध्यक्ष शुभम कचनेरिया, आरडी सोलंकी, हेमराज बारेला, हिम्मत सिंह उईके, देवी सिंह बारेला, रामफूल सस्त्या, अमर सिंह सोलंकी, अजय कांगलिया, रमेश बारेला जयस, मुकेश जामरे दबंग जयस, रवि सोलंकी जयस, राकेश मुरसे, सुनील बारेला, रमेश बारेला, साइमल बारेला, अनिल सूर्यवंशी ने संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वारा निर्धारित विश्व आदिवासी दिवस ९ अगस्त को शासकीय अवकाश घोषित करने की मांग प्रशासन से की है।