इंदौर में शनिवार और रविवार को स्वैच्छिक लॉकडाउन

0
6

इंदौर, एमपी के इंदौर में फिर से कोरोना ने एक बार रफ्तार पकड़ ली है। हर दिन 400 से ज्यादा नए मरीज मिल रहे हैं। प्रशासन की तरफ से तमाम तरह की एहतियात बरतने की अपील की जा रही है। लेकिन लोगों की लापरवाही की वजह से केस कम नहीं हो रहे हैं। ऐसे में शहर के व्यापारियों ने स्वैच्छिक लॉकडाउन का निर्णय लिया है। 47 व्यापारी संगठनों ने इसे लेकर कलेक्टर मनीष सिंह को ज्ञापन सौंपा है।

गुरुवार को इंदौर के 47 व्यापारिक संगठनों ने शनिवार और रविवार को स्वैच्छिक लॉकडाउन का निर्णय लिया है। इन व्यापारिक संगठनों के अंतर्गत शहर में 20 हजार दुकान आते हैं। ये सभी दुकान सप्ताह में 2 दिन बंद रहेंगे। अगर इस दिन कोई दुकान खोलता है कि उनके ऊपर प्रशासन कठोर कार्रवाई करेगी। इसके साथ ही कारोबारियों ने यह भी निर्णय लिया है कि शहर में दुकान अब सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक खुलेंगे। इसके बाद सभी दुकानें बंद हो जाएंगी।

कारोबारियों ने यह निर्णय कोरोना के चेन को तोड़ने के लिए लिया है। उनका मानना है कि लोग घरों से कम निकलेंगे, तो बाजारों में भीड़ कम होगी। इससे कोरोना के चेन को ब्रेक करने में मदद मिलेगी। क्योंकि बाजार खुलने के बाद लोग बेवजह भी अपने घर से निकल रहे हैं। ऐसे में शहर में कोरोना की रफ्तार तेज हो रही है। बाजार खुलने के बाद स्थिति पर नियंत्रण करना प्रशासन के लिए भी एक चुनौती साबित हो रही है। राजधानी भोपाल में पहले ही सरकारी स्तर पर यह ऐलान हो गया कि सभी बाजार रात 8 बजे बंद हो जाएंगे। सिर्फ मेडिकल स्टोर और रेस्टोरेंट रात साढ़े दस बजे तक खुले रहेंगे।

इंदौर में 414 केस
गुरुवार को भी इंदौर में कोरोना के 414 नए केस मिले हैं। वहीं, 8 लोगों की कोरोना से शहर में मौत भी हुई है। इंदौर में अब तक कोरोना के 21248 मरीज मिले हैं। वहीं, 524 लोगों की अभी तक कोरोना से मौत हुई है। अभी शहर में करीब 4 हजार कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है।