पोषण माह के उपलक्ष्य में बड़गांव में दिया गया प्रशिक्षण

0
3

rafi ahmad ansari
बालाघाट। 22 सितम्बर 2020 को राणा हनुमान सिंह कृषि विज्ञान केन्द्र, बड़गांव, बालाघाट में पोषण माह के उपलक्ष्य में पोषण वाटिका, पोषण थाली, अनेमिया एवं बालक के प्रथम 1000 दिन विषय पर एकदिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें जिले के 45 महिला किसान एवं छात्राओं ने हिस्सा लिया।

पोषण माह के उपलक्ष्य में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. आर.एल. राऊत द्वारा किया गया। उन्होने पोषण आहार, पोषण माह मनाने का प्रमुख उद्देष से महिला किसानों को अवगत कराया। प्रशिक्षण में केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ. मुरलीधर इंगले, सुखलाल वास्केल, डॉ. बी.के. प्रजापति, डॉ. एस.के. जाटव के द्वारा महिला किसानों को प्रशिक्षण दिया गया। पोषण थाली का चित्र दिखाते हुए डॉ. मुरलीधर इंगले ने पोषण थाली एवं थाली में मौजूद घटकों का संपूर्ण विवरण बताया। ऊर्जा के साधन, प्रोटीन, वसा का महत्व बताया तथा अनेमिया को कैसे मिटाए, लोहयुक्त सब्जी भाजियों का सेवन ही अनेमिया की महत्वपूर्ण दवाई हैं। साथ ही बच्चों के प्रथम 1000 दिन पर महिलाओं को प्रशिक्षण दिया गया एवं टीकाकरण का महत्व समझाया। गर्भावस्था के दौरान 270 दिन व दो साल तक के 730 दिनों का बच्चों के आहार के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी। जन्म के पश्चात तुरंत ही बच्चे को मां का गाढ़ा दूध पिलाया जाना चाहिए तथा 6 महीनें तक सिर्फ मां का दूध ही पिलाना क्यों आवश्यक हैं, यह प्रशिक्षण में सिखाया गया। इसके पश्चात श्री सुखलाल वास्केल, डॉ. प्रजापति एवं डॉ. जाटव ने पोषण वाटिका का महत्व तथा विधियों के बारे में विस्तृत में जानकारी दी और बायो फोटीर्फाइड किस्मों के बारे में बताया। कार्यक्रम का संचालन आभार प्रदर्षन डॉ. एस.आर. धुवारे ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में केन्द्र के श्री धमेन्द्र आगासे एवं जितेन्द्र मर्सकोले का सराहनीय योगदान रहा।