…तो बदल जायेगा जम्मू कश्मीर का राजनीतिक भूगोल!

0
50

नई दिल्‍ली : गृह मंत्रालय जम्मू-कश्मीर के विधानसभा क्षेत्रों के नए सिरे से परिसीमन की तैयारी में है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नए परिसीमन आयोग के गठन पर विचार जारी है. इसके तहत राज्‍य में कुछ सीटें SC/ST के लिए आरक्षित हो सकती हैं.

ऐसा होने पर जम्मू-कश्मीर का राजनीतिक नक्शा बदल जाएगा. सूत्रों के हवाले से आ रही खबर के मुताबिक, गृह मंत्रालय का जिम्मा संभालते ही गृह मंत्री अमित शाह जम्मू-कश्मीर की तस्वीर बदलने की कोशिशों में जुट गए हैं. लिहाजा, जम्मू-कश्मीर को लेकर लगातार बैठकों का दौर जारी है. इन बैठकों में अमित शाह के अलावा आईबी चीफ और गृह सचिव की हिस्सेदारी भी देखने को मिल रही है.
दरअसल, तीन दिन पहले जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी. सूत्रों के मुताबिक, राज्यपाल मलिक ने शाह से मुलाकात में जम्मू-कश्मीर पर तीन पन्नों की एक रिपोर्ट भी सौंपी थी. सूत्रों का कहना है कि इस रिपोर्ट में जम्मू-कश्मीर के नए सिरे से परिसीमन की बात कही गई है. सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय जम्मू-कश्मीर में नए सिरे से परिसीमन की योजना बना रही है. जिसके तहत जम्मू-कश्मीर में परिसीमन आयोग की नियुक्ति की जा सकती है.
सूत्रों के मुताबिक, इस आयोग की रिपोर्ट के बाद जम्मू-कश्मीर के विधानसभा क्षेत्रों के आकार पर विचार हो सकता है और साथ में कुछ सीटें SC कैटगरी के लिए रिज़र्व की जा सकती हैं. सूत्रों के मुताबिक, सरकार का मानना है कि जम्मू-कश्मीर का मौजूदा परिसीमन ठीक नहीं है और जम्मू क्षेत्र के साथ न्याय नहीं हो रहा. मौजूदा हालात में कश्मीर से ज्यादा और जम्मू से कम विधायक चुनकर विधानसभा में जाते हैं. ऐसे में सरकार का मानना है कि क्षेत्रीय भेदभाव को खत्म किया जाए, जिसके तहत बड़े फैसले लिए जा सकते हैं. जानकारों के मुताबिक, इसका मतलब ये है कि अगर ऐसा हुआ तो जम्मू-कश्मीर में कोई हिंदू मुख्यमंत्री पद पर दिख सकता है.

J&K के किस इलाके में कितनी सीट

कश्मीर- 46

जम्मू- 37

लद्दाख- 4

जम्मू-कश्मीर विधानसभा में किस पार्टी के कितने विधायक

PDP 28
BJP 25
NC 15
INC 12

जम्मू-कश्मीर का ‘धार्मिक समीकरण’

मुस्लिम- 68.31%
हिन्दू- 28.44%
सिख- 1.87%
ईसाई- 0.28%

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here