बालाजीधाम मंदिर पर जलेगी संभाग की सबसे बड़ी होली

0
40

khemraj mourya
शिवपुरी। शिवपुरी के सुप्रसिद्ध श्री बालाजी धाम मंदिर पर इस बार होली का महापर्व बड़ी धूमधाम और उत्साह के साथ मनाया जाएगा। महेंदीपुर बालाजी मंदिर की तर्ज पर संभाग की सबसे होली का दहन होगा। इस दिन महेंदीपुर बालाजी महाराज के विधान अनुसार संकटग्रस्त लोगों जैसे संतानहीनता, व्यापार में घाटा, ऊपरी हवा वाधा, करा कराया मानसिक रोग, बीमारी, घर में असमृद्धिता इत्यादि को लेकर नारियल का उतारा कराकर होलिका में दहन कराया जाएगा। बालाजी धाम मंदिर पर हजारों गोबर के कंडों का ढेर लगाकर होलिका मैया की प्रतिमा को विराजित किया जाएगा। जिनकी गोद में भक्त प्रहलाद भी बैठे हुए दिखाई देंगे। होलिका मैया की प्रतिमा को बनाने का कार्य शिवपुरी के ख्याति नाम मूर्तिकार को दिया गया है।

आपको बता दें कि पिछले 9 वर्षों से यहाँ पर कंडों की होली जलाई जा रही है। बालाजीधाम मंदिर के व्यवस्थापक नीरज जी का कहना है कि इसके पीछे आध्यात्मिक कारण है कंडों की आग और कपूर और इलायची जलाने पर वातावरण में शुद्धता आती है और सकारात्मक ऊर्जा चारों ओर फैलने लगती है और इसके द्वारा नकारात्मक ऊर्जा को क्षय होता है। होलिका दहन के दूसरे दिन श्री बालाजी धाम मंदिर का नजारा देखने लायक होगा यहां पर सैकड़ों की संख्या में हुरियारे दिखाई देंगे। जिनके लिए यहां पर एक रंगीन पानी का कुंड भरवाया जा रहा है जिसमें हजारों लीटर पानी भरवाया जाएगा और चारों और अबीर गुलाल की धूम दिखाई देगी । यानी कि कुल मिलाकर श्री बालाजी धाम मंदिर की होली इस बार धूमधाम से मनाई जा कर देखने लायक होगी। बालाजी धाम चरणसेवकों ने सभी संकटग्रस्त परिवारों से और धर्मप्रेमी जन बंधुओं से श्री बालाजी धाम मंदिर के होली महोत्सव में सपरिवार सम्मिलित होने का आग्रह किया है वहीं संकटग्रस्त लोगों से आग्रह है कि वह होलिका दहन वाले दिन शाम5 बजे तक वहाँ नारियल लेकर उपस्थित हो जायें।

आज से शुरू हुए होलाष्टक
इस वर्ष होलिका दहन गजकेसरी योग में होगा। इससे पहले होलिका दहन के समय भद्रा होने से मुहूर्त में परेशानी रहती थी। लेकिन इस बार ऐसा नहीं है। आज दोपहर 12:52 बजे से होलाष्टक प्रारंभ हो गया है, जो होलिका दहन के बाद खत्म होगा। होलाष्टक के दौरान गृह प्रवेश, विवाह, सगाई, विदाई आदि शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं।

यह है होलिका दहन का मुहूर्त
पंचांग अनुसार इस वर्ष होलिका दहन 9 मार्च की शाम 6 बजकर 26 मिनट से लेकर 8 बजकर 52 मिनट तक का समय शुभ है। श्री बालाजी धाम मंदिर पर श्री बाला जी सरकार की विशेष आरती उपरांत होलिका दहन 7:15 से 7:30 के बीच किया जाएगा पूर्णिमा तिथि 09 मार्च को 03:03 मिनट से लग रही है बालाजी धाम मंदिर व्यवस्थापक एवं सभी चरण सेवकों की ओर से सभी धर्म प्रेमी जनों से आग्रह किया गया है कि जो भी लोग संकटग्रस्त हैं और निवारण चाहते हैं तो वह 1 दिन पूर्व आकर संपर्क कर लें जिससे उन्हें उसारे की विधि और होलिका दहन संबंधित और अधिक जानकारी दी जा सकेगी और दूसरे दिन यानी होलिका दहन वाले रोज शाम 5 बजे नारियल लेकर उपस्थित हो जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here