अचानक लेह पहुंचे पीएम मोदी, नीमू पोस्ट पर बढाया सैनिकों का हौंसला

0
273

11000 फीट की ऊंचाई से चीन को दिया कडा संदेश

नई दिल्ली। लद्दाख में सीमा पर चीन से तनाव के बीच पीएम नरेंद्र मोदी अचानक लेह पहुंचे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी यहां अग्रिम पोस्ट पर जवानों से मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ा रहे हैं। पीएम थलसेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों से मिले। अधिकारियों ने उन्हें ताजा हालात और तैयारियों की जानकारी दी है। पीएम के साथ सीडीएस बिपिन रावत और थल सेना अध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे भी हैं। माना जा रहा है कि पीएम ने सीमा पर पहुंचकर सैनिकों में जोश भरने के साथ चीन को सख्त संदेश दे दिया है।

पीएम मोदी लेह एयरपोर्ट से नीमू पहुंचे। यह 11000 फीट की ऊंचाई पर स्थिति एक गांव है, जिसकी सीमा पाकिस्तान के हिस्से से जुड़ती है। इतनी ऊंचाई पर एक आम आदमी के लिए सांस लेना मुश्किल होता है, क्योंकि ऑक्सीजन की कमी होती है, लेकिन पीएम मोदी ने यहां पहुंचकर अपने सैनिकों को बड़ा संदेश दिया है।

प्रधानमंत्री के कार्यालय की ओर से जारी किए गए बयान के मुताबिक, ‘फिलहाल पीएम मोदी नीमू के एक फॉरवर्ड लोकेशन पर हैं। यहा वो तड़के सुबह ही पहुंच गए थे। यह जगह 11,000 की ऊंचाई पर स्थित है। यह इलाका सिंध नदी के किनारे पर और जांस्कर रेंज से घिरी हुई बहुत ही दुर्गम जगह है।’
नीमू दुनिया की सबसे ऊंची और खतरनाक पोस्ट में से एक माना जाता है।अचानक पीएम मोदी के इस दौरे ने हर किसी को चौंका दिया। पहले इस दौरे पर सिर्फ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत को ही आना था।

पीएम मोदी का यह लेह दौरा बहुत अहम माना जा रहा है। पीएम मोदी 11,000 फीट की ऊंचाई पर पहुंंचना चीन के लिए बहुत सख्त संदेश है। वहीं चीन में राष्ट्रपति शी जिनपिंग की आलोचना हो रहा है। कहा जा रहा है कि जिनपिंग ने अपने सैनिकों की शहादत को छुपाया और उन्हें मरने के बाद भी पूरा सम्मान नहीं दिया। यही कारण है कि चीन में पूर्व सैनिक अपनी ही सरकार के खिलाफ बगावत करने का मन बना रहे हैं।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह सीडीएस बिपिन रावत के साथ जाने वाले थे

इससे पहले खबर थी कि शुक्रवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह सीडीएस बिपिन रावत के साथ लेह जाएंगे और 14 कॉर्प्स के अधिकारियों से मुलाकात करेंगे। लेकिन गुरुवार को अचानक खबर आई कि राजनाथ सिंह का दौरा स्थगित कर दिया गया है, कारणों को लेकर अटकलें चल रही थीं। माना जा रहा है कि पीएम मोदी के जाने के फैसले की वजह से राजनाथ सिंह का दौरा टल गया।

तनाव के बीच प्रधानमंत्री का यह दौरा कई मायनों में अहम

पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच प्रधानमंत्री का यह दौरा कई मायनों में अहम है। उन्होंने अभी पिछले महीने के आखिरी रविवार को ही अपने रेडियो प्रोग्राम में ‘मन की बात’ में कहा था कि लद्दाख में हुई झड़प का चीन को उचित जवाब दे दिया गया है। इसके दो दिन के अंदर भारत ने चीन के 59 ऐप्स को बैन कर दिया। बैन हुए ऐप्स में टिकटॉक, शेयरइट जैसे ऐप भी शामिल हैं, जो भारत में लोकप्रिय हैं। यही नहीं, पीएम मोदी ने बुधवार को चीनी ऐप वीइबो भी छोड़ दिया था।