मां की आराधना का पर्व शारदीय नवरात्रि प्रारंभ, नौ दिनों तक देवी मंदिरों में उमड़ेगी आस्था की भीड़

0
3

amjad khan
शाजापुर। ललिताम्बिका त्रिपुरसुंदरी मां भवानी की आराधना का पर्व शारदीय नवरात्रि घट स्थापना के साथ शुरू हो गया और अब भक्त मातारानी को मनाने के लिए पूरे नौ दिनों तक विशेष पूजा-अर्चना करेंगे। शनिवार को मां भगवती की आराधना और दर्शन के लिए अलसुबह से भक्तों का तांता शहर के देवी मंदिरों में लगा रहा। शहर के प्रसिद्ध मां राजराजेश्वरी मंदिर में सुबह कलेक्टर दिनेश जैन, पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव आदि ने घटस्थापना कर मां की महाआरती की। इसीके साथ पंडालों में शक्ति की प्रतिमा विराजित की गईं। नवरात्रि के पहले दिन भक्तों ने मां शैलपुत्री स्वरूप की पूजा कर मंगलकामनाएं की। वहीं शहर के प्रसिद्ध मां राजराजेश्वरी मंदिर में मां की महाआरती कर प्रसादी का वितरण किया गया। उल्लेखनीय है कि शक्ति के सभी स्थलों पर मां की आराधना के पर्व की धूम शुरू हो गई है और इसीके चलते शहर के कसेरा बाजार स्थित रूपा माता मंदिर, प्राचीन लालबाई-फूलबाई मंदिर, संतोषी माता मंदिर, गायत्री मंदिर, मरी माता मंदिर, बिजासन माता मंदिर, गजलक्ष्मी मंदिर, काली माता मंदिर, हिंगलाज माता मंदिर एवं चामुंडा माता मंदिर सहित सभी मंदिरों में घट स्थापना और महाआरती की गई।

पंडालों में शुरू हुई भक्ति
नवरात्रि के प्रारंभ होते ही शनिवार से शहर के पंडालों में विराजमान मां आदिशक्ति की आराधना भी शुरू हो गई। इसीके साथ देवी मंदिरों में विभिन्न आयोजनों की गंगा बहने का सिलसिला भी शुरू हो गया। वहीं मंदिरों में नौ दिवसीय अखंड रामायण पाठ का आयोजन भी शुरू हुआ। उल्लेखनीय है इस वर्ष कोरोना महामारी के चलते शहर में करीब 28 स्थानों पर ही मां भवानी की स्थापना की गई है और अब पूरे नौ दिनों तक माता रानी को मनाने के लिए पंडालों में विभिन्न धार्मिक आयोजन संपन्न होंगे।