सिंधिया के शो का जवाब, कमलनाथ करेंगे ग्वालियर में उपचुनाव का शंखनाद

0
2

मेगा शो के लिए ग्वालियर से लेकर भोपाल तक कई दौर की बैठकें हो चुकी हैं

भोपाल। भाजपा ने सिंधिया के गढ़ में मेगा सदस्यता अभियान चलाकर अपनी ताकत दिखायी तो अब कांग्रेस भी यहां अपना दमखम दिखाने के लिए तैयार है। उपचुनाव की चौखट पर खड़े प्रदेश में कांग्रेस भी अपने चुनाव अभियान की शुरुआत इसी ग्वालियर-चंबल से करने के लिए तैयार है। पार्टी, पीसीसी चीफ और पूर्व सीएम कमलनाथ का यहां मेगा शो करने जा रही है।

सिंधिया-शिवराज के अगस्त में ग्वालियर में हुए शो के जवाब में अब कमलनाथ का यहां मेगा शो होगा। भाजपा ने तीन दिन तक ग्वालियर चंबल इलाके के लिए ग्वालियर में मेगा शो किया था। इस दौरान दावा किया गया था कि 76 हजार कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा की सदस्यता ली। हालांकि उसके दावे का कांग्रेस ने मखौल उड़ाया कि बीजेपी उन कार्यकर्ताओं के नाम तो बताए। भाजपा के बाद अब कांग्रेस की बारी है। इस इलाके में 16 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है। अब कमलनाथ भी सिंधिया के गढ़ से उप चुनाव के लिए प्रचार का शंखनाद करने जा रहे हैं।

मेगा शो का जवाब
कांग्रेस पार्टी सितंबर महीने के दूसरे हफ्ते में कमलनाथ का ग्वालियर दौरा तैयार कर रही है। इसमें पार्टी उपचुनाव का शंखनाद करेगी। कमलनाथ के दौरे को अगस्त में हुए शिवराज और सिंधिया के शो का जवाब माना जा रहा है। कमलनाथ के दौरे को हर स्तर पर सफल बनाने की तैयारी है। इसके लिए ग्वालियर से लेकर भोपाल तक कई दौर की बैठकें हो चुकी हैं। कमलनाथ के ग्वालियर दौरे के दौरान कांग्रेस पार्टी जिला, ब्लाक, मंडल और सेक्टर स्तर के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर चुनावी रणनीति तैयार करेगी। पार्टी ने इस दौरान सदस्यता अभियान चलाने का फैसला किया है। फिलहाल उसका फोकस ग्वालियर चंबल के उन नेताओं-कार्यकर्ताओं पर है जो भाजपा से असंतुष्ट चल रहे हैं। कमलनाथ की मौजूदगी में उन लोगों को कांग्रेस की सदस्यता दिलाई जा सकती है।

10 से 12 के बीच होगा कार्यक्रम
कमलनाथ के मीडिया कोऑर्डिनेटर नरेंद्र सलूजा से मिली जानकारी के मुताबिक कमलनाथ का दौरा कार्यक्रम तैयार हो रहा है। 10 से 12 तारीख के बीच वो ग्वालियर में एक कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं। इसकी तैयारियां की जा रही है। भोपाल ने कमलनाथ के ग्वालियर दौरे पर बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, कांग्रेस पार्टी के पास कार्यकर्ता नहीं बचे हैं। वो अब चाहें कोई भी शो बाजी कर ले। इसका असर जनता पर नहीं होने वाला है। उप चुनाव में जनता कांग्रेस को करारा जवाब देने के मूड में है।

सिंधिया को चुनौती
22 से 24 अगस्त 3 दिन तक सिंधिया और शिवराज ने ग्वालियर में डेरा डालकर बड़े स्तर पर सदस्यता अभियान चलाया था। भाजपा ने दावा किया है कि इस सदस्यता अभियान में 76 हजार से ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हुए हैं। यही कारण है कि अब सिंधिया शिवराज को कमलनाथ जवाब देने के लिए तैयार नजर आ रहे हैं। इसके लिए कांग्रेस पार्टी बड़े स्तर पर तैयारी करने में जुटी है ताकि कमलनाथ के दौरे के साथ ही सिंधिया को चुनौती और ग्वालियर चंबल की 16 सीटों पर कांग्रेस को मजबूत किया जा सके।