राजस्थान ने दर्ज की रेकॉर्ड जीत, स्मिथ, संजू और तेवतिया का तूफान, 224 का लक्ष्य हुआ बौना

0
6

शारजाह, राहुल तेवतिया की एक ओवर में पांच छक्के से सजी आतिशी पारी के दम पर राजस्थान रॉयल्स ने रविवार को यहां मयंक अग्रवाल के शतक से विशाल स्कोर खड़ा करने वाले किंग्स इलेवन पंजाब को 4 विकेट से हरा दिया। इस तरह उसने इंडियन प्रीमियर लीग में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का नया रेकॉर्ड बनाया। पंजाब ने पहले बैटिंग करते हुए दो विकेट 223 रन बनाए तो लग रहा था कि 224 रनों का लक्ष्य किसी पहाड़ से कम नहीं होगा। लेकिन पहले स्टीव स्मिथ (27 गेंद में 50 रन), मैन ऑफ द मैच संजू सैमसन (42 गेंदों में 85 रन) और फिर अंत में राहुल तेवतिया (31 गेंदों में 53 रन) ने ऐसी तूफानी बैटिंग की कि यह पहाड़ भी बौना साबित हो गया। रॉयल्स ने न सिर्फ आईपीएल में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रेकॉर्ड बनाया बल्कि इस टूर्नमेंट में बाद में बल्लेबाजी करते हुए सबसे बड़ा स्कोर भी खड़ा किया। रॉयल्स की यह लगातार दूसरी जीत है, जबकि किंग्स इलेवन को दूसरी बार जीत के करीब पहुंचकर हार झेलनी पड़ी।

राजस्थान को लगा शुरुआती झटका, बटलर सस्ते में लौटे
बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान टीम की शुरुआत उम्मीद के मुताबिक नहीं रही। पहला मैच खेल रहे विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर महज 4 रन बनाकर शेल्डन कॉटरेल की गेंद पर सरफराज के हाथों कैच आउट हो गए। उनका स्कोर 19 रनों के टीम स्कोर पर गिरा। इसके बाद कप्तान स्टीव स्मिथ और संजू सैमसन ने मोर्चा संभाला और पारी को आगे बढ़ाया।

स्मिथ-संजू की तूफानी बैटिंग
स्मिथ और संजू की जोड़ी ने शमी से लेकर शेल्डन कॉटरेल तक को निशाना बनाया और दूसरे विकेट के लिए तूफानी 81 रनों की पार्टनरशिप कर डाली। इसमें संजू सैमसन के 20 गेंदों में 40 और स्मिथ के इतनी ही गेंदों में 38 रन थे। 9वें ओवर की चौथी गेंद पर जिमी नीशम को सिंगल लेकर स्मिथ ने 26 गेंदों में अपनी फिफ्टी पूरी की, लेकिन इसी ओवर की आखरी गेंद पर बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में शमी के हाथों कैच आउट हो गए। टीम का स्कोर हो गया दो विकेट पर 100 रन।

संजू सैमसन ने 27 गेंदों में पूरी की फिफ्टी
स्मिथ के आउट होने के बाद मोर्चा संभाला सैमसन ने। पिछले मैच की ही तरह वह यहां छक्के पर छक्के उड़ाते नजर आए। उन्होंने 27 गेंदों में अपनी हाफ सेंचुरी पूरी करने के बाद टीम के स्कोर को और रफ्तार देने की कोशिश की। वह कामयाब भी रहे, लेकिन शमी की गेंद पर चूके और बाकी का काम केएल राहुल ने पूरा किया। वह 42 गेंदों में 7 छक्के और 4 चौके की मदद से 85 रन बनाकर आउट हुए।

6, 6, 6, 6, 0, 6… राहुल तेवतिया ने यूं पलट दिया मैच
इसके बाद राहुल तेवतिया ने मोर्चा संभाला और 18वें ओवर में शेल्डन कॉटरेल को 5 छक्के जड़ते हुए राजस्थान की मैच में वापसी करा दी। अगले ओवर में मोहम्मद शमी को राहुल ने एक, जबकि जोफ्रा आर्चर ने दो छक्का जड़ते हुए राजस्थान को जीत के करीब पहुंचा दिया। इसी ओवर की आखिरी गेंद पर राहुल तेवतिया विकेट के पीछे केएल राहुल के हाथों कैच आउट हुए, लेकिन तब तक पंजाब के हाथ से मैच फिसल चुका था। उन्होंने 31 गेंदों में 7 छक्के की मदद से 53 रन मारे। 20वें ओवर की तीसरी गेंद पर टॉम करन ने मुरुगन अश्विन को चौका जड़ते हुए राजस्थान रॉयल्स को जीत दिला दी।

पंजाब की पारी का रोमांच
मयंक अग्रवाल (106) के तूफानी शतक और कप्तान केएल राहुल के साथ उनकी पहले विकेट के लिए 183 रन की बड़ी साझेदारी की मदद से किंग्स इलेवन पंजाब ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 2 विकेट पर 223 रन बनाए। किंग्स इलेवन को बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर कर्नाटक के ये दोनों बल्लेबाज हावी हो गए। अग्रवाल शुरू से बड़े शॉट खेलने के मूड में दिखे। उन्होंने 50 गेंदों पर 106 रन बनाए, जिसमें दस चौके और सात छक्के शामिल हैं। पिछले मैच में शतक जड़ने वाले राहुल ने 54 गेंदों का सामना किया और अपनी 69 रन की पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया।

पावरप्ले में राहुल और मयंक की धांसू बैटिंग
निकोलस पूरन आठ गेंदों पर 25 रन बनाकर नाबाद रहे। शारजाह की पिच को शुरू से ही बल्लेबाजों के लिए अनुकूल माना जा रहा था। अग्रवाल और राहुल ने इसका पूरा फायदा उठाया और आईपीएल में पहले विकेट के लिए तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी निभायी। इन दोनों ने पावरप्ले में 60 रन जोड़े। यह आलम तब था जबकि पावरप्ले के पहले ओवर में जयदेव उनादकत ने तीन और अंतिम ओवर में जोफ्रा आर्चर ने केवल दो रन दिए, लेकिन इस बीच अग्रवाल ने अंकित राजपूत और उनादकत पर छक्के लगाए जबकि चौथे ओवर में गेंद थामने वाले आर्चर का राहुल ने लगातार तीन चौकों से स्वागत किया।

19 गेंदों में फिफ्टी तो 45 गेंदों में पूरा किया शतक
राजपूत ने अपने दूसरे ओवर में भी 17 रन लुटाए। अग्रवाल दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ खेली गई 89 पारी की पुनरावृत्ति कर रहे थे। लेग स्पिनर राहुल तेवतिया के पहले ओवर में लगाए गए उनके दोनों छक्के दर्शनीय थे। उन्होंने दूसरे लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल पर छक्का लगाकर केवल 26 गेंदों पर 50 रन पूरे किए। अग्रवाल ने अगले 50 रन हालांकि केवल 19 गेंदों पर बनाए और 45 गेंदों पर सैकड़ा पूरा करके आईपीएल में यूसुफ पठान (37 गेंद) के बाद सबसे तेज शतक जड़ने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज बने।

 अग्रवाल ने आईपीएल में पहला शतक लगाने के बाद टॉम करन की गेंद पर मिडविकेट पर कैच दिया। राहुल भी राजपूत के अगले ओवर में पविलियन लौट गए। पिछले मैच में नाबाद 132 रन बनाने वाले राहुल अपनी पिछली पारी की तरह प्रवाहमय नहीं दिखे लेकिन उन्होंने अग्रवाल का अच्छा साथ दिया तथा 35 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया था। आखिरी ओवरों में पूरण ने लंबे शॉट खेलने के अपने कौशल का अच्छा नमूना पेश किया। उन्होंने अपने तीने में से दो छक्के आर्चर पर लगाए जिन्होंने चार ओवर में 46 रन दिए। ग्लेन मैक्सवेल 13 रन बनाकर नाबाद रहे।