नए चेहरे-नए इरादों से सबक सीख चुकी जनता: गोविंद सिंह राजपूत

0
1

राजस्व व परिवहन मंत्री ने सुनाए पिछले हालात

anil dubey
सागर, 2013 के आम चुनाव में मुझे आधे से 10-15 परिवार का आशीर्वाद कम प्राप्त हुआ। जिस वजह से मात्र 150 वोट से मात खाना पड़ी। मुझे थोड़ा कम आशीर्वाद मिलने का कारण शायद यह रहा होगा कि लोग नए चेहरे-नए संकल्प, नए इरादों, नए वादों और नए जज्बातों को आजमाना चाहते थे लेकिन इसके बाद क्या हुआ किसी से छुपा नही हैं कि वो 5 साल लोगों ने गिन-गिनकर, घुट-घुटकर निकाले। याद करते हैं तो लोगों की आंखे डबडबा जाती हैं। दूध के जले अब मठ्ठा भी फूक-फूक कर पियेंगे। यह बात राजस्व व परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने रविवार को गुरैया गांव में जनसंपर्क में कही। इस दौरान वरिष्ठ भाजपा नेता राजेन्द्र सिंह मोकलपुर, भाजपा युवा मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष अभिषेक गोपाल भार्गव साथ में रहे।

भाजपा प्रत्याशी मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि जनता समझती है कि दीदी के जीतने के बाद बागडोर श्रीमान के हाथों में पहुंच जाती है और उनके काम करने के तरीके से सब परिचित हो चुके हैं कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से लेकर ठेकेदार तक कितने परेशान थे। सरकारी कर्मचारियों का तो जीना दूभर हो गया था। कमीशनबाजी और सौदेबाजी इतनी जबरदस्त हावी थी कि एक दिन भी ऐसा नहीं निकलता था जब 8-10 लोग श्रीमान की शिकायत लेकर उनके पास न आएं हो। नतीजा यह हुआ कि कुशासन से मुक्ति चाहने के लिए 2018 के चुनाव में फिर मुझे आशीर्वाद प्रदान करके राहत की सांस ली।

मंत्री श्री राजपूत ने रविवार को रैपुरा, गोंसरा, समनापुर, निटर्री, गुरैया, भिलैया, करैया, हनोता कला, तालग्वारी, नारायणपुर आदि गांव मे जनसंपर्क किया। इस दौरान इनके साथ अशोक सिंह बामोरा, डॉ.देवेन्द्र तिवारी, अशोक हेला, राकेश विश्वकर्मा, रविन्द्र परिहार, राजू वैद्य, बालव्रम्ह सिंह सहित अनेक लोग मौजूद रहे।