प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में लग रहा पलिता, जर्जर हो रहे उप-स्वास्थ केंद्र भवन

0
3

rafi ahmad ansari
बालाघाट। जिले के ग्रामीण क्षेत्रो में संचालित उप-स्वास्थ केंद्रो के उन्नयन को लेकर प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत आयुष्मान भारत और हेल्थ एंड वेलनेस के तहत जिले के 34 उप-स्वास्थ केंद्रो को चिन्हित कर उन्नयन का कार्य करवाया गया था। प्रत्येक उप-स्वास्थ केंद्रो के उन्नयन कार्य में लगभग 7 लाख रूपयें व्यय किये गये है। जिसमें आदिवासी बाहुल्य तहसील बैहर के परसवाडा,बिरसा एवं बैहर विकासख्ांड के अंतर्गत आने वाले अनेक उपस्वास्थ केंद्र शामिल है जिनका उक्त योजना से उन्नयन कार्य करवाया जा चुका है। किंतु करवायें गये उक्त उपस्वास्थ केंद्रो का उपयोग ना होने से पुन: पुरानी जैसी स्थिति में तब्दील हो रहे है। इस तरह की स्थिति बैहर विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत लूद, लातरी, पाथरी सहित अनेक गांवो में देखने को मिली। बिरसा ्रविकासखंड के अंतर्गत आने वाले डाबरी, दडेकसा में स्थित उपस्वास्थ केंद्र का उन्नयन कार्य करवाया गया है जिसमें डाबरी उपस्वास्थ केंद्र उपयोग में आ रह है, किंतु दडकसा ग्राम पंचायत में उन्नयन करवायें गये उपस्वास्थ केंद्र की स्थिति जस की तस पडी हुई है। यदि शासन प्रशासन द्वारा उक्त उपस्वास्थ केंद्र में स्वास्थ कर्मीयों की तैनाती नही की गई तो आने वाले दिनो में उन्नयन कार्य हुए उपस्वास्थ केंद्र का भवन जीर्णशीर्ण स्थिति आ जायेगा। इसी प्रकार परसवाडा विकासखंड के अंतर्गत आने वाले ग्राम मोहनपुर, कावेली और चालिसबोडी में भी उपस्वास्थ केंद्र का उन्नयन कार्य करवाया गया था किंतु उपयोग में ना आने से भवन जीर्ण-शीर्ण हालत में पहुचं रहे है।