पाक ने ड्रोन से भेजे थे हथियार, लेने पहुंचे लश्कर ए तैयबा के तीन संदिग्ध गिरफ्तार

0
4

राजौरी, जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सेना और सुरक्षाबलों की कार्रवाई जारी है. सुरक्षाबलों की सख्ती के चलते स्थिति यह हो गई है कि आतंकियों के पास हथियारों की कमी पड़ गई है. वहीं पाकिस्तान में बैठे आतंकी घाटी में मौजूद आतंकियों के लिए हथियार मुहैया कराने के लिए कई तरह के हथकंडे अपना रहे हैं. कश्मीर घाटी में ड्रोन के जरिये हथियार गिराये जाने का मामला सामने आया है. इस सिलसिले में तीन संदिग्धों को अरेस्ट किया गया है.

जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले से सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है. इन आतंकियों के पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है जो उन्होंने ड्रोन के जरिये मिले थे. तीनों दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के हैं और इनकी पहचान राहिल बशीर, आमिर जान और हाफिज युनिस वानी के रूप में की गई है.

हथियार बरामद

पुलिस ने बताया कि ये आतंकी पाकिस्तान से ड्रोन द्वारा भेजे गए हथियारों को लेने के लिए राजौरी गए थे. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि तीनों आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के हैं. बरामद किए गए हथियारों में दो एके-56 राइफल, 180 राउंड के साथ 6 एके-मैगजीन, दो चीनी पिस्तौल, 30 राउंड के साथ तीन पिस्टल मैगजीन, चार ग्रेनेड शामिल हैं. साथ ही 1 लाख रुपये नकद भी बरामद किया गया है.

पुलिस ने बताया कि ये हथियार ड्रोन के जरिये शुक्रवार रात को गिराये गए थे. संदिग्धों के पास एक लाख रुपये का कैश भी बरामद किया गया है. ड्रोन से हथियार गिराये जाने की इस घटना के बाद पाकिस्तान से लगी सीमा पर तैनात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों को अलर्ट पर रखा गया है.

एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि हाल के दिनों में इस तरह की 8 घटनाएं हमारे नोटिस में आई हैं. कठुआ में एक ड्रोन को बीएसएफ ने मार गिराया था. जवाहर सुरंग के पास तीन ड्रोन गिराये गए थे. अधिकारी ने बताया कि चूंकि पिछले कुछ महीनों में आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी आई है लिहाजा, घाटी में दहशतगर्दों के पास हथियारों की कमी देखी जा रही है.