अब ग्रामीण पथ विक्रेता भी होंगे आत्मनिर्भर-राज्यमंत्री

0
5

शुजालपुर में मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना के तहत ऋण वितरण समारोह संपन्न

amjad khan
शाजापुर। ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे-छोटे व्यवसाय करने वाले ग्रामीणों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए ग्रामीण पथ विक्रेता योजना के तहत 10-10 हजार रुपए का ऋण बिना ब्याज दिया जा रहा है, ताकि उनकी जीविका सुचारू रूप से चल सके। यह बात प्रदेश के स्कूल शिक्षा स्वतंत्र प्रभार एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदरसिंह परमार ने गुरुवार को शुजालपुर के सामुदायिक भवन में गरीब कल्याण सप्ताह के अंतर्गत संपन्न हुए मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना के तहत ऋण वितरण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में कही।

समारोह के दौरान भोपाल में संपन्न हुए प्रदेश स्तरीय समारोह में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा दिए गए उद्बोधन का सीधा प्रसारण भी किया गया। इसके अलावा जिले की अन्य जनपद पंचायतों, ग्राम पंचायतों एवं ग्रामीण समुदाय द्वारा प्रदेश स्तरीय समारोह के प्रसारण को देखा गया। इस मौके पर कलेक्टर दिनेश जैन, सीईओ जिला पंचायत मिशासिंह सहित अधिकारी और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
राज्यमंत्री परमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहरी क्षेत्रों के छोट-छोटे व्यवसायियों के लिए स्ट्रीट वेंडर योजना शुरू की है, इससे प्रदेश के एक लाख से अधिक छोटे व्यवसायी लाभांवित हुए हैं। इस योजना के तहत प्रदेश में 8 लाख से अधिक लोगों ने पंजीयन कराया है, जिन्हें शीघ्र लाभ दिया जाएगा। शहरी क्षेत्र के लिए लागू योजना को देखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने ग्रामीण क्षेत्रों के छोटे-छोटे व्यवसायियों के लिए मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना शुरू की है। उन्होने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सब्जी बेचकर, बाल काटकर, लोहारी या कारपेंटर या अन्य छोटा-मोटा काम करके आजीविका चलाता है, जिनके काम लॉकडाउन के कारण बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। इन्हें अपने व्यवसाय पुनरू शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना के तहत आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के लिए एक वर्ष के लिए 10-10 हजार रुपए का बिना ब्याज का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि राज्य शासन द्वारा गरीब कल्याण सप्ताह में अनेक कल्याणकारी योजनाएं शुरू की गई है। सभी योजनाओं का क्रियान्वयन जिले में बेहतर तरीके से किया जाएगा और मध्यप्रदेश शासन के संकल्प को पूरा करेंगे। उल्लेखनीय है कि जिले में शुजालपुर के 65, कालापीपल क्षेत्र के 81, मो. बड़ोदिया के 67, शाजापुर के 10, गुलाना के 34 इस प्रकार कुल 257 पथ विक्रेताओं को 10-10 हजार रुपए का ब्याज मुक्त ऋण दिया गया है। इस योजना के तहत कुल 426 पथ विक्रेताओं का पंजीयन हुआ है, जिन्हें ऋण स्वीकृत कर वितरित किया जाएगा। समारोह के दौरान टोकन स्वरूप मोरटाकेवड़ी के मुकेश एवं रामप्रसाद दांगी, पगरावदकलां के शाहरूख एवं पंकज गेहलोद, बिनाया के अशोककुमार, रसलपुर की कुन्ताबाई एवं चंदरसिंह, मगरानिया के शिवनारायण एवं जितेन्द्र पांचाल, झारड़ा के मुकेश मेवाड़ा, खेड़ीनगर के गोविन्द बारोलिया, अनिल बारोलिया, अशोक जाटव, दीपक बारोलिया एवं विष्णुप्रसाद मेवाड़ा, रानोगंज की जीतूबाई एवं मोहम्मदखेड़ा के नरेन्द्र मेवाड़ा को 10-10 हजार रुपए ऋण उपलब्ध कराने का स्वीकृति पत्र दिया गया।