160 मेगा वोल्ट एम्पियर ट्रांसफार्मर का राज्यमंत्री ने किया उद्घाटन

0
5

amjad khan
शाजापुर। प्रदेश के स्कूल शिक्षा स्वतंत्र प्रभार एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदरसिंह परमार ने गुरुवार को ग्राम चितोड़ा स्थित शुजालपुर के मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के 220 किलोवॉट विद्युत उपकेन्द्र के 160 मेगा वोल्ट एम्पियर ट्रांसफार्मर का उद्घाटन किया। इस मौके पर राज्य मंत्री ने संबोधित करते हुए कहा कि शुजालपुर क्षेत्र में इस विद्युत उपकेन्द्र की शुरूआत सन् 1991 में हुई थी, तब से लगातार विद्युत प्रदाय हो रहा है।

गत वर्ष ट्रांसफार्मर जलने के कारण विद्युत वितरण में बाधा उत्पन्न हो रही थी। मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी ने युद्ध स्तर पर काम करते हुए पुन: ट्रांसफार्मर स्थापित किया गया है, इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। ट्रांसफार्मर स्थापित होने से क्षेत्र में विद्युत की सप्लाय सामान्य हो जाएगी। उन्होने कहा कि केवल एक संसाधन से विद्युत की आपूर्ति नहीं हो सकती, इसके लिए नवकरणीय उर्जा का भी उपयोग किया जा रहा है। मध्यप्रदेश में कृषि कार्य के लिए 10 घंटे तथा घरेलू उपयोग के लिए 24 घंटे विद्युत प्रदाय किया जा रहा है। उन्होने सभी लोगों से अपील की कि उर्जा की व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित रखने के लिए उपभोक्ता अपने वास्तविक बिलों का समय पर भुगतान करें। समय पर भुगतान नहीं होने से इसका बोझ सरकार पर पड़ता है जिससे सरकार के अन्य कार्य प्रभावित होते हैं। मंत्री ने कहा कि राज्य शासन ने शिक्षा और स्वास्थ्य पर ध्यान केन्द्रित करते हुए रोडमेप तैयार किया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत मध्यप्रदेश में भी कार्य किया जाएगा। राष्ट्रीय शिक्षा नीति से अन्य देश भी प्रभावित हुए हैं। विश्व के 108 देश हमारी शिक्षा नीति के ड्रॉफ्ट को मांग रहे हैं। नई शिक्षा नीति में लाखों लोगों के विचारों को समाहित किया गया है। प्राथमिक शिक्षा पर सबसे पहले ध्यान दिया जाएगा। कक्षा 6 टी से विद्यार्थियों को व्यवसायिक शिक्षा भी दी जाएगी, इससे विकास को गति मिलेगी और बदलावपूर्ण समाज का निर्माण होगा। नई शिक्षा नीति लोगों को रोजगार देगी, इससे लोगों में अपने देश के प्रति स्वाभिमान बढ़ेगा।

गौशाला का शुभारंभ
गुलाना में कृष्ण बृज गौशाला का मंत्री परमार ने फीता काटकर एवं गाय की पूजा कर शुभारंभ किया। इस दौरान गुलाना क्षेत्र के 34 ग्रामीण पथ विक्रेताओं को 10-10 हजार रुपए के ब्याज मुक्त ऋण स्वीकृति पत्र भी प्रदान किए गए। साथ ही आंगनवाड़ी केन्द्र में आने वाले बच्चों को पोषण आहार वितरण, फसल बीमा राशि, मैधावी विद्यार्थियों को लेपटॉप वितरण, मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना, नई शिक्षा नीति आदि की जानकारी दी गई।