मेडिकल स्टोर्स व किराना दुकान से होती थी नशे की गोली ”अल्प्राजोलम” की सप्लाई

0
3

rafi ahmad ansari
बालाघाट। कोतवाली पुलिस ने नशीली गोलियां अल्प्रोजोलम के व्यवसाय में लिप्त लोगों को पकडने में सफलता हाथ लगी है। वही मेडिकल स्टोर्स व किराना दुकान से सप्लाई की जा रही भारी मात्रा में नशे की गोलियां भी आरोपियों के कब्जे से बरामद की गई है। इस संबध में पुलिस ने बताया कि नगर क्षेत्र में युवाओं द्वारा नशीली गोलियों का सेवन कर नशे के आदी होने के संबंध में लगातार सूचनाएं मिल रही थी। जिस संबंध में उक्त व्यवसाय में लिप्त लोगों की धरपकड़ हेतु वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा दिशा निर्देश दिए गए थे।

इस संबंध में मुखबिर तंत्र को सक्रिय कर तथा उनकी सूचना पर बिसन पिता सोमजी नागेश्वर निवासी वार्ड नंबर 4 शांति नगर बालाघाट को बैहर रोड शारदा मंदिर के आगे स्थित अनाज किराना दुकान से गिरफ्तार किया गया। जहां उसके द्वारा अपनी किराना दुकान से अल्प्राजोलम नामक नशीली दवा बेचने का व्यवसाय किया जाता था। उक्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए आरोपी बिसन नागेश्वर की दुकान में दबिश देकर भारी मात्रा में ”अल्प्राजोलम” टेबलेट के 30 पत्ते में शामिल करीब 300 गोली बरामद की गई। उसने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उक्त गोलियां सागर भास्कर निवासी बालाघाट के पास से बिक्री करने के लिए ली गई थी और ग्राहको को नशे के लिये बेचता था। जहां मौके की कार्रवाई पर आरोपियों के विरुद्ध अपराध क्रमांक 655/ 2020 धारा 8,22,29 एनडीपीएस एक्ट का मामला कायम कर जांच में लिया गया। वही आरोपियों के कथन मेमोंरेडम के आधार पर सागर भास्कर पिता निलेश वार्ड नंबर 7 बालाघाट निवासी से पूछताछ करने पर उसने नशीली दवा अल्प्राजोलम टेबलेट, आशीष पिता गेंदालाल तेलासे निवासी बगदरा, विमल पिता किशोर उके बगदरा के द्वारा मेडिकल दुकान ”प्रज्वल मेडिकल स्टोर” संचालक अजय पिता महेश मंगलानी 37 वर्ष निवासी प्रेमनगर बालाघाट से लाकर देना बताया। जिस आधार पर सभी 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। जिसमे एक मेडिकल व्यवसायी, किराना दुकानदार व अन्य 3 लोगो को पकड़ा गया है, जो बिना डॉ. पर्ची के नशे की दवा बेचते थे।