शिवराज सरकार के खिलाफ मंडी कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल

0
3

amjad khan
शाजापुर। शिवराज सरकार के खिलाफ मंडी कर्मचारियों और व्यापारियों ने एक बार फिर मोर्चा खोलते हुए अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है जिससे मंडी सन्नाटा पसर गया है। कृषि उपज मंडी कर्मचारी संघ ने हाल ही में लागू हुए मॉडल मंडी एक्ट के विरोध में अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है और इसीके चलते जिलेभर की मंडी में कामकाज पूरी तरह से ठप हो गया है और मंडी गेट पर ताला डला हुआ है। वहीं टैक्स कम करने की मांग को लेकर व्यापारी महासंघ के आह्वान पर मंडी व्यापारी भी हड़ताल पर चले गए हैं।

उल्लेखनीय है कि कृषि उपज मंडियों के संचालन एवं नियमन नियंत्रण में बदलाव को लेकर केंद्र सरकार द्वारा मॉडल एक्ट के जारी अध्यादेश को राज्य शासन ने प्रदेश में लागू करने और इसे विधानसभा में पारित कराने के निर्णय लिया है जिसके विरोध में अंतिम चेतावनी के बाद 25 सितंबर शुक्रवार से संयुक्त संघर्ष मोर्चा मप्र मंडी बोर्ड भोपाल के आह्वान पर शाजापुर सहित जिले की गल्ला मंडियां भी पूरी तरह से अनिश्चितकाल के लिए बंद हो गई हैं। हड़ताली कर्मचारियों ने बताया कि सरकार से कर्मचारी संघ की मांग है कि मंडियों में लागू मॉडल एक्ट को समाप्त किया जाए, क्योंकि उक्त नवीन मॉडल एक्ट कर्मचारियों, कृषक, हम्मालों और व्यापारियों के हित में नहीं है। कर्मचारियों की मांग है कि मंडी समिति सेवाए मंडी बोर्ड सेवा एवं राज्य मंडी बोर्ड सेवा इन तीनों सेवाओं को एकीकृत कर सिर्फ राज्य मंडी सेवा किया जाकर मध्य प्रदेश शासन के कर्मचारी घोषित किया जाए, मंडी कर्मचारियों के लिए वेतन भत्ते और पेंशन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। हड़ताल के पहले दिन मंडी कर्मचारियों ने कृषि उपज मंडी गेट पर तालाबंदी कर नारेबाजी की।