माधुरी कानिटकर देश की तीसरी महिला लेफ्टिनेंट जनरल बनीं

0
38

नई दिल्ली, मेजर जनरल माधुरी कानिटकर को शनिवार को लेफ्टिनेंट जनरल के पद पर प्रमोट किया गया. माधुरी भारतीय सेना में तीसरी महिला अधिकारी और फोर्स में दूसरा सबसे बड़ा पद हासिल करने वाली पहली महिला बाल रोग विशेषज्ञ है. खबरों के मुताबिक माधुरी कानिटकर ने 37 सालों तक भारतीय सेना में काम किया है. लेफ्टिनेंट जनरल कानितकर ने नई दिल्ली में डिप्टी चीफ, इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ (डीसीआईडीएस), मेडिकल (चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के तहत) का कार्यभार संभाला। शुक्रवार को विभाग ने माधुरी के प्रमोशन को मंजूरी दी थी।

आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज पुणे की पूर्व डीन मेजर जनरल माधुरी कानिटकर को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के तहत इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ के मुख्यालय में तैनात किया गया है. माधुरी के पति राजीव कानिटकर भी लेफ्टिनेंट जनरल रहे हैं. देश के इतिहास में यह पहला मौका है, जब पति और पत्नी दोनों ही सेना में लेफ्टिनेंट जनरल रहे हों.
पुनीता अरोड़ा लेफ्टिनेंट जनरल के पद को संभालने वाली पहली महिला थीं. पुनीता एक सर्जन वाइस-एडमिरल और भारतीय नौसेना और भारतीय सेना की पूर्व 3-स्टार फ्लैग ऑफिसर थीं. बाद में, भारतीय वायु सेना (IAF) की महिला एयर मार्शल पद्मावती बंदोपाध्याय इस पद पर पदोन्नत होने वाली दूसरी महिला थीं.
मेजर जनरल माधुरी कानिटकर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के तहत तैनात होंगी. इनकी प्रमुख जिम्मेदारी संयुक्त योजना और एकीकरण के माध्यम से सेवाओं की खरीद, प्रशिक्षण और संचालन में अधिक तालमेल के लिए आवंटित बजट के उचित उपयोग को सुनिश्चित करना होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here