जानिए… घर में ही कैसे बनाएं गर्मागर्म जलेबी

0
4

जलेबी दो पारंपरिक और झटपट तरीके से बनती है। पारंपरिक विधि में, मैदा और दही से घोल बनाया जाता है और उसे 24 घंटे के लिए फरमेंट किया जाता है। पारंपरिक विधि द्वारा तैयार की गई जलेबी का स्वाद बेहतर होता है।

तो जलेबी घर पर बनाने के लिए मुख्य-3 स्टेप हैं; पहले स्टेप में, मैदा और दही से घोल तैयार किया जाता है, दूसरे स्टेप में चाशनी बनायीं जाती है, और अंतिम स्टेप में, घोल में से गर्म तेल में सीधे जलेबी बनाकर कुरकुरी होने तक तली जाती है और फिर गर्म चाशनी में डुबोयी जाती है।

घोल बनाने की सामग्री

1/2 कप मैदा
1 टेबलस्पून कॉर्न स्टार्च (कॉर्न फ्लोर) या अरारूट पाउडर
1/4 टीस्पून बेकिंग पाउडर
एक चुटकी हल्दी पाउडर (पीला रंग पाने के लिए)
1/4 कप दही
1/4 कप पानी

चाशनी बनाने की सामग्री

1/2 कप शक्कर
1/4 कप + 2 टेबलस्पून पानी
1 टी स्पून नींबू का रस
एक चुटकी इलायची पाउडर
5-7 केसर की किस्में, वैकल्पिक

एक कटोरे में 1/2 कप मैदा छान लें। उसमें 1 टेबलस्पून कॉर्न स्टार्च (कॉर्न फ्लोर), 1/4 टी स्पून बेकिंग पाउडर, एक चुटकी हल्दी पाउडर और 1/4 कप दही डालें।
जरूरत के अनुसार पानी (लगभग 1/4 कप) डालें और गाढ़ा घोल (इडली के घोल की तुलना में थोड़ा मोटा) बना लें। घोल में कोई गांठ ना रहे।
घोल को एक प्लेट या एक ढक्कन से ढककर 24 घंटे के लिए कमरे के तापमान पर (किचन के काउंटर टॉप पर ही रखे) फरमेंट होने के लिए (खमीर उठाने के लिये) रखे। 24 घंटे के बाद, ढक्कन हटा दें।
घोल को एक चम्मच से अच्छी तरह से फैंट लें।
जलेबी बनाने की बोतल या (एक खाली सोस की बोतल) या एक जिपलॉक बेग (या कोई भी मोटी प्लास्टिक की बेग) में घोल डालें।

चाशनी बनाने की विधि
एक गहरे पतीले या पैन में चीनी, केसर की किस्में, इलायची पाउडर और पानी डालें और मध्यम आंच पर पकने के लिये रखे।
इसे तब तक पकाइये जब तक कि हल्की 1-तार की चाशनी हो जाये।
जब 1-तार की चाशनी हो जाये तब नींबू का रस डालें। अच्छी तरह से मिलाएं और गैस बंद कर दें। चाशनी तैयार है। (अगर चाशनी ठंडी हो तो जब आप जलेबी बनाना शुरू करे तब चाशनी को गर्म रखने के लिए कम आंच पर रख दें ताकि अगले स्टेप में जब जलेबी चाशनी में डुबाये तब वे गर्म रहें।)

जलेबी को तलने के लिए एक कड़ाही में मध्यम आंच पर घी/तेल गर्म करें। इस विधि में तलने के लिए तेल + 2 टेबलस्पून घी का उपयोग किया है। तेल तलने के लिए तैयार है या नहीं उसकी जांच करने के लिये घोल की एक बूंद गर्म तेल में डालें और अगर यह रंग बदले बिना ही तुरंत सतह पर आती है तो तेल तलने के लिए तैयार है। इसके बाद जिपलॉक बैग को दबाते हुए गोल गोल घूमा के जलेबी बनाये।

उन्हें तेल में से निकालें और तुरंत ही गर्म चाशनी में डाल दें। सिरप (चाशनी) गर्म या थोड़ा गर्म होंना चाहिये, यह ठंडा नहीं होना चाहिए। उन्हें लगभग दो मिनट के लिए सिरप में रखें। एक मिनट के बाद पलट दें। अब जलेबी खाने को तैयार है।