राम मंदिर भूमि पूजन के लिए लालकृष्‍ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी को न्‍योता

0
3

नई दिल्‍ली, अयोध्‍या में 5 अगस्‍त को राम मंदिर के भूमि पूजन की खातिर कई जानी-मानी हस्तियों को निमंत्रण भेजा गया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती और उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री कल्‍याण सिंह ने कार्यक्रम में पहुंचने पर हामी भरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों भूमि पूजन का कार्यक्रम है। अयोध्‍या में इसके लिए जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं। भाजपा के दिग्‍गज नेता लालकृष्‍ण आडवाणी को औपचारिक निमंत्रण नहीं भेजा गया है। न ही एक और सीनियर लीडर मुरली मनोहर जोशी के पास न्‍योता पहुंचा है। इन दोनों नेताओं को अब फोन पर कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जाएगा।

उद्धव के लिए शिवसेना ने मांगा निमंत्रण
आडवाणी और जोशी उन नेताओं में से हैं जो राम मंदिर आंदोलन का चेहरा रहे हैं। इनपर 1992 में बाबरी मस्जिद विध्‍वंस की साजिश रचने का आरोप है। सीबीआई ने अदालत के सामने कहा था कि इन नेताओं ने मस्जिद के पास से उकसाने वाले भाषण दिए जिसका नतीजा 6 दिसंबर 1992 को दिखा जब बाबरी मस्जिद ढहा दी गई। राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए निमंत्रण महाराष्‍ट्र सीएम उद्धव ठाकरे को भी नहीं भेजा गया है। उनकी पार्टी ने यह कहते हुए निमंत्रण की मांग कि उसने मंदिर के लिए ‘खून-पसीना’ बहाया है। हालांकि ठाकरे ने पिछले हफ्ते कहा था कि उन्‍हें भूमि पूजन में शामिल होने के लिए निमंत्रण की जरूरत नहीं है।

50 वीआईपी भूमि पूजन के गवाह बनेंगे 
भूमि पूजन में बिहार के मुख्‍यमंत्री और बीजेपी की सहयोगी जेडीयू के नेता नीतीश कुमार को बुलाया जा सकता है मगर उन्‍हें अभी तक औपचारिक निमंत्रण नहीं भेजा गया है। पहले भूमि पूजन के मेहमानों की लंबी-चौड़ी लिस्‍ट तैयार हुई थी कि जिसे कोरोना वायरस के चलते एक जगह इकट्ठे होने पर लगी रोक के चलते बहुत छोटा किया गया है। अब करीब 50 वीआईपी हैं जो 5 अगस्‍त के कार्यक्रम में शामिल होंगे।

भूमि पूजन कार्यक्रम का लाइव प्रसारण किया जाएगा, ये नेता होंगे शामिल
5 अगस्त के कार्यक्रम में जिन्हें शामिल होना है, उनमें पीएम मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ, राष्ट्रीय स्वयंसेवक प्रमुख मोहन भागवत, वीएचपी नेता तथा मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, राम जन्मभूमि न्यास के हेड महंत नृत्यगोपाल दास शामिल हैं। भूमि पूजन कार्यक्रम का लाइव प्रसारण किया जाएगा। इस दौरान पीएम मोदी का संबोधन भी होगा।

जश्न की खास तैयारियां की जा रही
अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन समारोह से पहले जश्न की खास तैयारियां की जा रही हैं। भूमि पूजन से पहले अयोध्यावासी उत्सव के रूप में अपने घरों के बाहर निकलकर घंटी और थाली बजाकर भगवान राम का स्वागत करेंगे। शुभ मुहूर्त 11।40 बजे से 10 मिनट पहले अयोध्या के तमाम लोगों को उनके घर के बाहर निकलने को कहा गया है। पूजन समारोह के तुरंत बाद अयोध्या में प्रसाद वितरण का काम शुरू होगा। प्रसाद वितरण के लिए तमाम लोगों को जिम्मेदारी दी गई है। अयोध्या में महाप्रसाद वितरण के लिए 1 लाख 11 हजार पैकेट प्रसाद तैयार कराया जा रहा है।