पथ विक्रेताओं को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने अभिनव पहल

0
4
innovation-initiatives-linking-street-vendors-with-the-mainstream-of-development

पथ विक्रेताओं को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने अभिनव पहल

ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स ऋण वितरण कार्यक्रम सम्पन्न

innovation-initiatives-linking-street-vendors-with-the-mainstream-of-development

Syed Javed Ali
मण्डला (24 सितम्बर 2020) – ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स ऋण वितरण कार्यक्रम में उपस्थित हितग्राहियों को संबोधित करते हुए कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि शासन की इस अभिनव पहल से ग्रामीण क्षेत्र के पथ विक्रेताओं को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। ऋण राशि के सार्थक उपयोग से पथ विक्रेता अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर कर सकते हैं। जिला योजना भवन में संपन्न हुए इस कार्यक्रम में सीईओ जिला पंचायत तन्वी हुड्डा, अग्रणी बैंक प्रबंधक अमित केसरी, सेन्ट्रल बैंक मैनेजर प्रशांत खरे तथा ग्रामीण आजीविका परियोजना के जिला प्रबंधक बीडी भैंसारे सहित चिन्हित हितग्राही उपस्थित रहे।

कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि पहली बार ग्रामीण पथ विक्रेताओं की ओर ध्यान केंद्रित करते हुए उन्हें ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराने की एक अभिनव पहल की गई है। कोरोना काल में पिछले कुछ महीनों से जिनका व्यवसाय प्रभावित हुआ है उनके लिये यह ऋण राशि सहायक होगी। कलेक्टर ने कहा कि जिले में लगभग 4 हजार पथ विक्रेता पंजीकृत हैं जिनमें से 900 से अधिक लोगों को ऋण वितरण किया जा चुका है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों का आव्हान किया कि वे शतप्रतिशत हितग्राहियों को लाभान्वित करने का प्रयास करें। कलेक्टर ने पंजीकृत पथ विक्रेताओं को शासन की अन्य योजनाओं से भी पात्रता अनुसार लाभान्वित करने की बात कही।

इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत तन्वी हुड्डा ने पथ विक्रेताओं के पंजीयन तथा प्रदाय किए जा रहे हैं ऋण के संबंध में जानकारी देते हुए हितग्राहियों को समय पर ऋण अदा करने की समझाइश दी। उन्होंने कहा कि पथ विक्रेताओं के सशक्तिकरण के लिए प्रशासन संकल्पित है। उन्होंने कहा कि हितग्राही समय में ऋण अदा कर भविष्य में और अधिक राशि का ऋण प्राप्त कर सकते हैं। इससे पूर्व कार्यक्रम के प्रारंभ में अग्रणी बैंक प्रबंधक अमित केसरी ने पथ विक्रेताओं को बैंक द्वारा ऋण प्रदान किए जाने की प्रक्रिया के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार और बैंक की ओर से की जा रही इस मदद का उपयोग कर अपने व्यवसाय को बढ़ावे और समय पर ऋण राशि में चुकता करें। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के संबोधन का एलईडी के माध्यम से सीधा प्रसारण किया गया। कार्यक्रम के अंत में चिन्हित पथ विक्रेताओं को ऋण वितरित किए गए।

628 ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स को 62 लाख 80 हजार रूपये के ऋण वितरित –
ग्रामीण आजीविका परियोजना के जिला प्रबंधक बीडी भैंसारे ने बताया कि जिले में सेट्रल बैंक ऑफ इंडिया के 423 हितग्राही को राशि 42.30 लाख, मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक के 68 हितग्राही को राशि 6.80 लाख, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के 68 हितग्राही को राशि 6.80 लाख, पंजाब नेशनल बैंक के 31 हितग्राही को राशि 3.10 लाख, बैंक ऑफ इंडिया के 19 हितग्राही को राशि 1.90 लाख, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के 13 हितग्राही को राशि 1.30 लाख, यूको बैंक के 3 हितग्राही को राशि 30 हजार, सिडिकेंट बैंक के 2 हितग्राही को राशि 20 हजार, कॉरपोरशन बैंक के 01हितग्राही को राशि 10 हजार रूपये सहित कुल 628 हितग्राहियों को 62 लाख 80 हजार रूपए मुख्यालय की बैंक शाखाओं द्वारा ऋण वितरण किया गया।