भाजपा शासित राज्यों में असामाजिक तत्वों को संरक्षण के चलते बढ़ रहीं हैं बलात्कार की घटनाएं

0
3

बहुजन समाज पार्टी ने ज्ञापन सौंपकर हाथरस कांड के आरोपियों को फांसी देने की मांग की और शासन तथा प्रशासन की भूमिका पर खड़े किए सवाल

khemraj morya
शिवपुरी। बहुजन समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष धनीराम चौधरी ने एक प्रेस बयान में बताया कि हाथरस की घटना के विरोध में पार्टी की एक बैठक आयोजित की गई। जिसमें हाथरस में मनीषा बाल्मिकी की बलात्कार के बाद नृशंस हत्या की कड़ी निंदा करते हुए आरोपियों को फांसी देने की मांग की। वहीं उत्तरप्रदेश पुलिस की भूमिका की आलोचना करते हुए कहा कि पीडि़ता के शव का बिना परिवार की सहमति के आधी रात के बाद अंतिम संस्कार किया जाना सरासर गलत है और इसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। बसपा का मानना है कि भाजपा शासित राज्यों उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में असामाजिक तत्वों के हौंसले बुलंद हैं। जिसके चलते ऐसी बर्बर और नृशंस घटनाएं घटित हो रही हैं।

इसी प्रकार मध्य में भी भाजपा की सरकार है मध्य प्रदेश के अंतर्गत नरसिंहपुर जिले में थाना चिचोली मैं एक दलित महिला के साथ अपहरण कर जबरदस्ती तीन लोग दबंग प्रभावशाली क्रिमिनल देशद्रोही लोगों के द्वारा जबरन महिला को पकड़ लिया और उसके साथ गैंग रेप कर बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म पिया इसकी रिपोर्ट लिखाने के लिए पुलिस थाना चिचोली में महिला पहुंची पुलिस के द्वारा एफ आई आर दर्ज ना करते हुए और उल्टे ही उस महिला के पति वाजेट को थाने में बंद कर दिया। इससे व्यथित होकर महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इसका जिम्मेदार पुलिस प्रशासन है इसलिए ऐसे देशद्रोही गुंडों को मौसी की मांग करते हुए इसलिए बहुजन समाज पार्टी 05 अक्टूबर 2020 को महामहिम राज्यपाल महोदय को कलेक्टर के माध्यम से ज्ञापन देकर मांग की कि उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश के दोषियों को फांसी की सजा दी जाए। सरकार द्वारा इनका प्रकरण फास्ट्रेक न्यायालय में भेजा जावे और जो प्रशासनिक अधिकारी कर्मचारी हैं उनके द्वारा शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है और परिवार जनों को नहीं सौंपा है उनको दोषी मानते हुए कानूनी कार्रवाई की जा कर पद से मुक्त किया जावे और नरसिंहपुर के जिले के अंतर्गत थाना चिचोली के पुलिस कर्मियों की सेवा से बर्खास्त किया जाए और उनके पीड़ित परिवारों को मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा 5000000-5000000 लाख रुपए की सहायता राशि दिलवाई जावे। 1 वर्ष के अंदर शिवपुरी जिले में कई हत्याएं की जा चुकी है लेकिन शिवपुरी जिले के हत्या से पीडि़त परिवारों को आज दिनांक आज दिनांक तक पीडितोंं को शस्त्र लाइसेंस नहीं दिए हैं और भानगढ़ के हत्या से पीडि़तों को शासन द्वारा सहायता राशि अभी तक नहीं मिल पाई है शीघ्र से शीघ्र सहायता राशि दिलवाई जाए। आज कलेक्टर के यहां ज्ञापन देने में प्रदेश सचिव संत सिंह आदिवासी, जॉन प्रभारी सुआलाल जाटव बाल्मिक समाज से बस नेता हरीश बागरी, धनीराम चौधरी, जिला अध्यक्ष पूर्व लोकसभा प्रभारी शंकरलाल कदम, राकेश जाटव ठेकेदार, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष शिवपुरी अर्जुन राजे, विधानसभा अध्यक्ष कोलारस हरनाम सिंह, महासचिव दिनेश जोराठी, विधानसभा अध्यक्ष शिवपुरी विक्रम जाटव, नगर अध्यक्ष शिवपुरी शंकर जाटव, महासचिव अरुण पालिया, युवा विधानसभा कोषाध्यक्ष उम्मेद सिंह जाटव महासचिव दिनेश चौधरी रघुवीर जाटव आदि शामिल हैं।