कोरोना की भयावह स्थिति एवं लाॅकडाउन को देखते हुए प्रदेश की शिवराज सरकार दे दो माह तक प्रत्येक किसान को 7500 रूपये की राशि – संजय सिंह परिहार

0
30
in-view-of-the-terrible-situation-and-lockdown-of-corona-shivraj-government-of-the-state-should-give-rs-7500-to-each-farmer-for-two-months-sanjay-singh-parihar

कोरोना की भयावह स्थिति एवं लाॅकडाउन को देखते हुए प्रदेश की शिवराज सरकार दे दो माह तक प्रत्येक किसान को 7500 रूपये की राशि – संजय सिंह परिहार

आम जनता से अपील है कि अपने घरों में ही रहें

in-view-of-the-terrible-situation-and-lockdown-of-corona-shivraj-government-of-the-state-should-give-rs-7500-to-each-farmer-for-two-months-sanjay-singh-parihar

Syed Javed Ali
मण्डला – जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष संजय सिंह परिहार ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि कोरोना से बचाव के लिए आम जन अपने घरों में ही रहें एवं किसानों की मांग के संबंध में कहा कि आज पूरा देश एवं प्रदेश कोरोना वायरस की महामारी से उत्पन्न गंभीर परिस्थिति का सामना कर रहा है। कोरोना के बचाव के लिए म.प्र. सहित सम्पूर्ण भारत में 21 दिवस का लाॅक डाउन घोषित किया गया है। इसके पूर्व में भी आवश्यकतानुसार प्रदेश के अनेक जिलों में कफ्र्यू/लाॅकडाउन प्रभावशील रहा है, जोकि अत्यंत आवश्यक भी है। उल्लेखनीय यह भी है कि लाॅक डाउन के कारण आमजन के समक्ष विषम स्थितियां निर्मित हो रही हैं। लाॅकडाउन के कारण सम्पूर्ण प्रदेश के किसान भाई कठिनाई का सामना कर रहे हैं। वर्तमान में रबी की फसल की कटाई एवं विक्रय का समय प्रारंभ हो चुका है। अनेक फसलें यथा गेहूॅ, मटर, धनिया, सरसों, चना आदि कटने की स्थिति में आ चुकी है परन्तु लाॅकडाउन के कारण फसलों की कटाई नहीं हो पा रही है एवं फसल खराब होने की संभावना बन गई है। साथ ही वे किसान भाई जिन्होंने स्वयं की फसल की कटाई कर ली है उनके समक्ष फसल के भंडारण एवं विक्रय की समस्या खड़ी हो गई है। कई सब्जी उत्पादक जिलों में सब्जी को निकाल कर खेतों में रखा गया है परन्तु लाॅकडाउन के कारण परिवहन एवं विक्रय की व्यवस्था नहीं होने से सब्जियां सड़ने की स्थिति में पहुॅच रही है। इसी प्रकार की स्थिति फलों के संदर्भ में भी हो रही है, जैसे संतरा को समय पर नहीं तोड़ा गया तो फल खराब हो जायेगा और यदि फल को तोड़ लिया गया तब परिवहन एवं विक्रय के आभाव में एक निश्चित समय बाद फल सड़ जायेंगे। असमय वर्षा के कारण उक्त स्थिति और भी चिन्तनीय हो रही है । प्रदेश के किसान भाईयों को राहत देने के लिए यह अत्यंत आवश्यक है कि प्रदेश सरकार द्वारा फसलों, सब्जियों एवं फलों की कटाई, तुड़ाई, भंडारण, परिवहन एवं विक्रय के लिए आवश्यक किसान हितैषी व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। परन्तु खेद का विषय है कि प्रदेश सरकार द्वारा इन महत्ती बिंदुओं पर अभी तक कोई उल्लेखनीय कदम नहीं उठाया गया है। आपसे आग्रह है कि प्रदेश के किसान भाईयों को राहत देने के लिए फसलों की कटाई, भण्डारण, परिवहन एवं विक्रय के लिए अविलम्ब व्यवस्था सुनिश्चित कराये । साथ ही इस विषम परिस्थिति में किसान भाईयों को राहत देने के लिए अंतरिम राहत पैकेज घोषित किया जाये। अंतरिम राहत के रूप में प्रत्येक किसान भाई को न्यूनतम 7500 रूपये प्रतिमाह की राशि आगामी दो माह तक के लिए तत्काल स्वीकृत एवं वितरित की जाये ताकि जिले के किसान भाईयों को कुछ राहत प्राप्त हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here