स्वस्थ रहना है, तो पियें 5 मशालों से बना काढ़ा-जानिए कैसे बनाएं

0
13

इम्यु‍निटी के कमजोर होने से कोरोना का खतरा अधिक बढ़ जाएगा

यदि इम्युन पावर कमजोर होती है तो बीमार होने की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे में इम्युनिटी मजबूत करने वाले फूड्स का सेवन करना चाहिए, साथ ही घर पर बना काढ़ा भी पीना चाहिए।

घर पर बना काढ़ा भी पीना चाहिए
कोरोना का प्रकोफ दुनियाभर में बहुत तेजी से फैल रहा है। डॉक्टर और वैज्ञानिकों का दावा है कि इम्यु‍निटी के कमजोर होने से कोरोना का खतरा अधिक बढ़ जाएगा। रोग प्रतिरोधक क्षमता हमें कई बीमारियों से बचा के रखती है। कोरोना के आम लक्षणों में सर्दी-जुकाम और गले में खराश भी शामिल है। यदि इम्युन पावर कमजोर होती है तो बीमार होने की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे में इम्युनिटी मजबूत करने वाले फूड्स का सेवन करना चाहिए, साथ ही घर पर बना काढ़ा भी पीना चाहिए। इससे सर्दी-जुकाम और गले में खराश की समस्या भी दूर हो जाएगी। घर पर मौजूद मसालों की मदद से आप आसानी से काढ़ा बना सकते हैं। आइए जानते हैं बनाने का तरीका-

बनाने की सामग्री
8-10 तुलसी का पत्ता
2-3 लौंग
1 से 2 दालचीनी की छोटी स्टिक
आधा चम्मच हल्दी
2 चम्मच शहद

कैसे बनाएं काढ़ा
सबसे पहले तुलसी के पत्ते, दालचीनी, लौंग और हल्दी को अच्छी तरह पीस लें। अब इस मसालों को पहले भूनकर अलग रख लें। इसके बाद एक पैन में 1 से 2 कप पानी गर्म करें और फिर इन सभी मसालों को उसमें डाल दें। इसे 15-20 मिनट तक उबलने के लिए छोड़ दें। फिर इस पानी को छान लें और हल्का ठंडा होने के लिए छोड़ दें। स्वाद के लिए आप इसमें शहद मिला सकते हैं।

रोजाना कम से कम 2 बार जरूर पिएं
इम्युनिटी मजबूत करने के लिए और सर्दी-जुकाम और गले के खराश को दूर करने के लिए आप इस काढ़े को रोजाना कम से कम 2 बार जरूर पिएं। इससे छाती में मौजूद बलगम भी खत्म हो जाएगी और सांस सही से ना ले पाने की समस्या भी कम हो जाएगी। इसके अलावा यह काढ़ा गले के दर्द से भी राहत दिलाने में मदद करता है।

अन्य प्रयोग जिनसे बढती है इम्युनिटी
इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए जरूरी है कि अच्छी नींद ली जाए। रोजाना कम से कम 9 घंटे की नींद लेनी चाहिए।
दही के सेवन से भी इम्यून पावर बढ़ती है। इसके साथ ही यह पाचन तंत्र को भी बेहतर रखने में मददगार होती है।
कच्चा लहसुन खाना भी इम्युनिटी को बूस्ट करने में सहायक होता है।
संतुलित आहार, नियमित एक्सरसाइज, हाई प्रोटीन डाइट, विटामिन सी, प्राणायाम, श्वास-प्रश्वास पर नियंत्रण, अनुलोम विलोम, कपाल भाति आदि इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए सहायक होते हैं।