विश्व पर्यावरण दिवस पर गृह मंत्री ने दतिया में लगाये पौधे

0
3

प्रकृति से जुड़ाव ही हमारी प्राचीन संस्कृति रही है : डॉ. मिश्रा

vinod pandey
दतिया, हमें अपनी प्राचीन संस्कृति एवं सभ्यता अनुसार प्रकृति से प्रगाढ़ संबंधों को बनाये रखना होगा। इसके लिए हमें अधिक से अधिक पौधे लगाने होंगे। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर शनिवार को दतिया में अंकुर कार्यक्रम के अंतर्गत आयोजित पौध-रोपण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने विभिन्न प्रजातियों के पौधे भी रोपित किए।

डॉ. मिश्रा ने कहा कि आधुनिकीकरण की दौड़ एवं अपने स्वार्थ के कारण हम जंगलों को काटते जा रहे हैं। किसी समय में जहाँ जंगलों में हरे-भरे वृक्ष दिखाई देते थे, आज जंगलों में खाली जमीन देखने को मिल रही है। डॉ. मिश्रा ने कहा कि पर्यावरण को शुद्ध रखने में वृक्षों का विशेष स्थान है। उन्होंने कहा कि वृक्ष हमें प्राणवायु के रूप में निःशुल्क ऑक्सीजन देते हैं।

डॉ. मिश्रा ने कहा कोरोना काल में हम वृक्षों के महत्व को भली-भाँति समझ चुके हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग प्रकृति से जुड़े रहते हैं, वह कम बीमार देखने को मिलते हैं। यही कारण है कि शहरी क्षेत्रों की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के प्रकरण कम देखने को मिले। गृह मंत्री ने लोगों से कहा कि हमें ऐसी प्रजाति के पौधे लगाने हैं, जो हमारे जीवन में लाभदायक हों। पीपल, तुलसी एवं बरगद के पौधे लगाने से हमें चौबीस घंटे ऑक्सीजन प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि आज आवश्यकता है कि हम अपनी संस्कृति एवं प्रकृति का संरक्षण करते हुए अधिक से अधिक पौधे लगाकर पर्यावरण संतुलन में अपना योगदान दें एवं अपनी जीवन शैली में बदलाव लाकर प्रकृति से जुड़े रहें।

डॉ. मिश्रा ने पुलिस लाइन वार्ड नम्बर-36, थाना कोतवाली, सखी बाबा मुक्तिधाम हाईवे पर सिंधी समाज और बड़ौनी में आयोजित पौध-रोपण कार्यक्रम में भाग लिया।

डॉ. मिश्रा ने वृद्धाश्रम का किया शुभारंभ

डॉ. मिश्रा ने दतिया के वार्ड क्रमांक-36 में बाल प्रगति संस्थान द्वारा संचालित वृद्धाश्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने वृद्धजनों से चर्चा की और उन्हें कोरोना से बचाव के लिये आयुर्वेदिक काढ़ा भी पिलाया।
इस अवसर पर पूर्व विधायक डॉ. आशाराम अहिरवार, श्री सुरेन्द्र बुधौलिया, श्री योगेश सक्सैना, श्रीमती मीनाक्षी कटारे, श्री विनय यादव, श्री गोविन्द ज्ञानानी, श्री संतोष कटारे, पिंकी सगर, श्री मान सिंह कुशवाह सहित अन्य जन-प्रतिनिधि तथा अधिकारी उपस्थित रहे।