स्वंय को मत्स्य विभाग के अधिकारी बताकर ग्रामीणो से की लाखो की ठगी

0
3

मामले की शिकायत होने पर दोनो फर्जी अधिकारी गिरफ्तार

rafi ahmad ansari
बालाघाट। वारासिवनी पुलिस ने तालाब निर्माण,जेसीबी मशीन में अनुदान दिलवाने के नाम पर हितग्राहीयों से लाखो रूपयें की ठगी करने की शिकायत पर अपराध दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार संतोष कुमार धुर्वे एवं रऊफ खान के विरूद्ध शिकायत प्राप्त हुई थी कि दोनो व्यक्ति अपने आप को मत्सय विभाग में उपसंचालक बताकर जेसीबी मशीन खरीदने पर अनुदान देने एवं तालबा निर्माण में अनुदान मिलने की बात कहकर धोखाधडी की है। इस मामले की शिकायत गणेश कुमार कुमरे जाति गोंड उम्र 51 वर्ष निवासी तुमाडी, मिश्रीलाल एवं तेजलाल राहंगडाले ग्राम सिकंद्रा के द्वारा की गई थी। शिकायत के आधार पर दोनो आरोपी संतोष कुमार धुर्वे एवं रऊफ खान के विरूद्ध धोखाधडी का अपराध धारा 420,34 पंजीबद्ध कर उन्हे गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के अनुसार तालाब निर्माण, जेसीबी मशीन में अनुदान दिलवाने के लिये संतोष कुमार धुर्वे व रोऊब खान के द्वारा तीन माह पूर्व जून माह में तेजलाल रांहगडाले ग्राम सिकन्द्रा एवं नत्थुलाल पंचबुधे ग्राम बिरसोला के माध्यम से शिकायतकर्ताओ को जानकारी लगी की तालाब निर्माण एवं जेसीबी मशीन की खरीदी पर शासन की योजना द्वारा संतोष कुमार धुर्वे जो अपने आप को प्रशासनिक अधिकारी बताकर अपने सहायक रोउब खान के साथ आकर शिकायतकर्ताओं को बताया कि तालाब निर्माण के लियें ढाई एकड जमीन होने पर शासन द्वारा 07 लाख रूपयें का अनुदान दिया जाता है एवं 8 एकड जमीन पर तालाब निर्माण पर 16 लाख का अनुदान आरोपीयों के माध्यम से करवाया जाता है। उक्त अनुदान प्राप्त करने के लिये 32 हजार रूपये की नगद राशि आरोपीयों को देनी होगी और अपने केवाईसी दस्तावेज भी देंने होगें। संतोष कुमार धुर्वे ने स्वंय को मत्स्य विभाग में अधिकारी के पद पर पदस्थ होना बताया और विभाग की योजना के तहत अनुदान राशि दिलवाने की बात कही। जेसीबी मशीन का प्रकरण यदि कोई आदिवासी के द्वारा बनवाया जाता है तो उसे 50 प्रतिशत अनुदान प्रदाय किया जायेगा। ऐसा आरोपीयों द्वारा कहा गया और डेढ लाख रूपये की राशि दोनो आरोपीयों कोे देनी होगी। प्रकरण में संतोष कुमार धुर्वे के द्वारा डेढ लाख रूपयें जेसीबी मशीन व 32 हजार रूपये तालाब निर्माण के लिये राशी ली गई। जिसमें 32 हजार रूपये मिश्रीलाल पटले के द्वारा दिया गया। इस शिकायत के आधार पर दोनो आरोपीयों के विरूद्ध अपराध दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया।