शासकीय और सीलिंग भूमि की जांच के लिए पहुंचा ईओडब्ल्यू का दल

0
1

brijesh parmar
उज्जैन । शासकिय और सीलिंग भूमि पर कॉलोनी काटने की रजिस्टर्ड हुई शिकायत के बाद आर्थिक अपराध शाखा उज्जैन ईकाई की टीम ने इंदौर रोड़ स्थित इंद्रालय 1-2 और तिरुपति डिलाइट नामक कॉलोनियों की जांच शुरू की है । मामले में अब कॉलोनी के दस्तावेज खंगाले जा रहे है आरोप है कि कालोनाइजरों ने करोड़ों की शासकीय जमीन पुरी कॉलोनी में दबा ली है वहीं सांठगांठ कर सीलिंग की जमीन पर भी अभिन्यास स्वीकृत करा लिया है ।

इंदौर रोड पर शिवांश हाईराइज बिल्डिंग के समीप स्थित गड्ढे में लगभग 20 फ़ीट का भराव कर यह कालोनियां काटी गई है जिसमें खनीज की रॉयल्टी चोरी के साथ ही शासकीय और सीलिंग जमीन दबाने की शिकायत eow से की गई थी जिसमें eow ने प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी है, बहुत बड़े क्षेत्र में फैली इन कॉलोनियों ने बड़े पैमाने पर शासकीय जमीनें भी दबा ली गई है वहीं सीलिंग की वे जमीन भी उपयोग कर ली गई है जिसे हाईकोर्ट ने सीलिंग मुक्त करने पर रोक लगा दी थी, फिर भी यहां कॉलोनी काट दी गई। फिलहाल ईओडब्ल्यू सभी विभागों से कॉलोनी के कागज तलब कर रहा है जिसके बाद कॉलोनी का भौतिक सत्यापन होगा
शिकायत पंजीबद्ध होकर भोपाल से आई है।स्थल निरीक्षण किया गया है।राजस्व विभाग से रिपोर्ट ली जाएगी।करीब पांच सदस्यीय दल था।
प्रेम किशोर व्यास,एसआई,ईओडब्ल्यू ईकाई,उज्जैन