जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक संपन्न

0
8
district-level-crisis-management-committee-meeting-concluded

जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक संपन्न

केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने अधिकारीयों को दिए दिशा-निर्देश

district-level-crisis-management-committee-meeting-concluded

Syed Javed Ali
मण्डला – कोरोना महामारी के मद्देनजर गठित जिला स्तरीय प्रबंधन समिति की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से संपन्न हुई। बैठक में इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए आगामी महीनों में सावधानी बरतना होगा। हम सभी को कोरोना को हराने के लिए दृढ़संकल्पित रहते हुए दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करना होगा। उन्होंने जिले में हाट-बाजार, सार्वजनिक आयोजनों में अनावश्यक भीड़-भाड़ को नियंत्रित करने सख्ती बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हम सभी को मॉस्क एवं सोशल डिस्टेसिंग का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा। सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों का आयोजन शासन से जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप ही करें।

श्री कुलस्ते ने निर्देशित किया कि दुकानों पर 5 से अधिक व्यक्तियों की उपस्थिति को नियंत्रित करने सख्त प्रयास करें। उन्होंने कंटेनमेंट क्षेत्र में आवश्यक सामग्रियों की लगातार आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सेम्पल लेने के बाद व्यक्ति को क्वारेंटाईन कराया जाए ताकि अनावश्यक संक्रमण न फैले। उन्होंने होम क्वारेंटाईन किए जाने वाले व्यक्तियों से होम क्वारेंटाईन का सख्ती से पालन करने की अपील की। राज्यसभा सांसद संपतिया उईके ने जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक में कहा कि जिला मुख्यालय के साथ-साथ विकासखंड स्तर पर भी कोरोना को रोकने प्रभावी योजना तैयार करें। कोरोना संक्रमित एवं संदिग्ध मरीजों के इलाज के लिए विकासखंड स्तर पर छात्रावास भवन चिन्हित करते हुए उनमें जरूरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। श्रीमती उईके ने कहा कि कोरोना को रोकने के लिए सबके सक्रिय सहयोग की आवश्यकता है। जनप्रतिनिधियों से कहा कि कोरोना रोकने के लिए सक्रिय भूमिका निभाएं।

बैठक में कलेक्टर हर्षिका सिंह ने जिले में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने जिले में सक्रिय तथा डिस्चार्ज मामलों के बारे में आंकड़ेवार जानकारी दी। श्रीमती सिंह ने क्वारेंटाईन सेंटर की व्यवस्थाओं के बारे में भी बताया। उन्होंने जिले में प्रतिदिन लिए जा रहे कोरोना जांच सेम्पल तथा रिपोर्ट के बारे में बताया। कलेक्टर ने अनुविभाग तथा विकासखंड स्तर पर चिन्हित किए जा रहे क्वारेंटाईन सेंटर की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बैंक, पोस्ट ऑफिस तथा कोरोना संक्रमण की दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्रों में की जा रही पुल सेम्पलिंग के बारे में भी बताया। कलेक्टर ने बैठक में बताया कि होम क्वारेंटाईन का उल्लंघन करने वालों तथा बिना मॉस्क वाले व्यक्तियों पर जुर्माने की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कंटेनमेंट क्षेत्र में किए जा रहे स्वास्थ्य सर्वे तथा सेनेटाईजेशन संबंधी प्रक्रिया के बारे में बताया।

पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला ने जिले में सक्रिय कंटेनमेंट क्षेत्र तथा उसमें की जा रही व्यवस्था के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कोरोना जागरूकता के लिए किए जा रहे अनाउंसमेंट एवं भीड़ आदि को नियंत्रित करने के लिए पुलिस द्वारा की जा पेट्रोलिंग के बारे में भी बताया। श्री शुक्ला ने बिना मॉस्क वाले व्यक्तियों पर ’रोको-टोको अभियान’ के अंतर्गत की जा रही चालानी कार्यवाही की जानकारी भी दी। बैठक में सीएमएचओ ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण के लिए की गई तैयारियों एवं आगामी इंतजामों के बारे में बताया।

बैठक में केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, राज्यसभा सांसद संपतिया उईके, निवास विधायक डॉ. अशोक मर्सकोले, नगरीय निकायों के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष, कलेक्टर हर्षिका सिंह, पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला, एडीएम मीना मसराम, भीष्म द्विवेदी सहित जनप्रतिनिधि एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।