किसान बिल के विरोध में बैलगाड़ी पर सवार होकर कांग्रेस ने निकाली रैली

0
3

काला कानून वापस लो: प्रमोद शर्मा हुसैनपुर

awdhesh dandotia
मुरैना। जिला किसान कांग्रेस ने सैकड़ों कार्यकर्ताओं की तादाद में सड़क पर उतरकर किसान बिल का विरोध किया। साथ ही इस बिल को काला कानून बताते हुए इस वापस लेने की मांग की है। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए किसान बिल के विरोध में मुरैना में मंगलवार को किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर के नेतृत्व में 3 सौ से अधिक कार्यकर्ताओं ने कृषि उपज मंडी से कलेक्ट्रेट तक बैलगाड़ी, ट्रैक्टर और बाइक के साथ रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रधानमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बिल वापसी के लिए प्रशासन को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी सौंपा। मध्य प्रदेश किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर के नेतृत्व में किसान एवं कार्यकर्ता कृषि उपज मंडी में एकत्रित हुए। किसान कांग्रेस के पदाधिकारी एक बैल गाड़ी पर सवार होकर किसान रैली निकाली और बिल का विरोध किया। रैली में ट्रैक्टर और बाइकों पर कार्यकर्ता यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए दिखाई दिए। इसके साथ ही पूरी रैली में कोई भी मास्क नहीं लगाये हुए था।
कांग्रेस का आरोप है कि केंद्र सरकार द्वारा लाया गया। किसान बिल किसान विरोधी है। इस काले कानून को जल्द वापस लिया जाए। कमलनाथ के सहमति के सवाल पर दिनेश गुर्जर ने कहा कि भाजपा के नेता कुछ भी कह सकते हैं। नोटबंदी के दौरान भारत आर्थिक तंगी पर आ गया था। कोरोना काल मे प्रधानमंत्री ने पूरे देश मे लॉक डाउन लगाने पर कहा था कि कोरोना भाग जाएगा लेकिन अब लाखों की संख्या में लोग बीमार हो रहे हैं। भाजपा लोगों को गुमराह करने का काम कर रही है। इसलिए हम इसका विरोध करते हैं। इस मौके पर प्रमुख रूप से किसान कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रमोद शर्मा हुसैनपुर, शहर कांग्रेस अध्यक्ष दीपक शर्मा, सौरभ सोलंकी, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष गौरव बाथम, एनएसयूआई प्रदेश मंत्री सौरभ डण्डौतिया, कौशल पंडित, भूरा पंडित, गिर्राज बच्चू शर्मा सहित कई कांग्रेसी मौजूद थे।